दक्षिण कोरिया और उरुग्वे गुरुवार को फीफा विश्व कप के दूसरे मैच में एक भी गोल नहीं कर सके, जिसके परिणामस्वरूप 0-0 से ड्रा रहा। एच ग्रुप की इन दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला है। एशियाई दिग्गज दक्षिण कोरिया ग्रुप एच के पहले मैच में 2010 की उपविजेता उरुग्वे के खिलाफ बड़ी चुनौती थी। हालांकि, खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन के कारण दोनों टीमें गोल करने में नाकाम रहीं। मैच के दौरान खिलाड़ियों को गोल करने के कई आसान मौके मिले लेकिन खिलाड़ी इन मौके को गोल में बदलने में नाकाम रहे। लेकिन अंत में फीफा रैंकिंग में 28वें स्थान पर काबिज दक्षिण कोरियाई टीम उरुग्वे की 14वीं रैंकिंग वाली टीम के खिलाफ 0-0 से मैच ड्रॉ कराने में सफल रही। दूसरे हाफ में उरुग्वे की टीम ने मैच पर पकड़ बनाए रखी। इस टीम द्वारा गेंद पर कब्जा बनाए रखा गया था। 64वें मिनट में लुइस सुआरेज की जगह एडिसन कैवानी को भेजा गया।

उरुग्वे कोरिया के डिफेंस को नहीं तोड़ सका

एजुकेशन सिटी स्टेडियम में, उरुग्वे ने गोल पोस्ट पर दो हमले किए, लेकिन दक्षिण कोरिया के डिफेंस को नहीं तोड़ सके। पहले हाफ में डियोगो गोडिन ने हेडर से गोल पोस्ट पर हमला किया लेकिन गोल करने में असफल रहे। हालांकि दक्षिण कोरिया ने भी गोल करने के कई मौके गंवाए। इस मैच के दौरान पहले हाफ में दक्षिण कोरिया हावी रहा लेकिन दूसरे हाफ में उरुग्वे ने गति बरकरार रखी और दक्षिण कोरिया रक्षात्मक हो गया। हालांकि बीच में जवाबी हमला करने की कोशिश भी हुई लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला.