शादी से पहले एक ही बिस्तर पर लेटा जोड़ा, वजह जान आपको भी गर्व होगा

इन दिनों हर जगह शादी का माहोल हैं. जिस गली मोहल्ले से गुजरो वहां शहनाइयों की गूंज सुनाई देती हैं. हर व्यक्ति का सपना होता हैं कि उसकी शादी बड़े धूम धाम से हो. अपने इस सपने को पूरा करने के लिए वो लाखो से लेकर करोड़ों रूपए तक खर्च कर देता हैं. बड़ा शादी हाल, 56 तरह के पकवान, महंगा डेकोरेशन, डीजे, बाजे, मेहमानों को गिफ्ट्स और भी ना जाने क्या क्या. इन सभी चीजों में हम पानी की तरह पैसा बहाते हैं.आज कल शादी को विशाल और आलिशान बनाने का ट्रेंड चल रहा हैं. यहाँ बस एक दिन की झूठी शान दिखाने के लिए लोग अपनी जिंदगी भर की कमाई यूं ही उड़ा देते हैं. लेकिन क्या आप ने कभी सोचा हैं कि अपनी जिंदगी के इस नए मोड़ पर आपको थोड़ा बहुत समाज के लिए भी कुछ करना चाहिए. आम तौर पर देखा जाए तो इस बारे में कोई नहीं सोचता हैं. उन्हें बस अपनी दिखावे वाली शान की परवाह होती हैं.

लेकिन वो कहते हैं दुनियां में हर इंसान एक जैसा नहीं होता हैं. यहाँ कुछ नेक दिल बंदे भी रहते हैं जो समाज के बारे में सोचते हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही नेक दिल और समाज के प्रति जागरूक दुल्हे से मिलाने जा रहे हैं जिसने अपनी शादी के दिन ऐसा काम कर दिया जिसे देख आप सभी का सीना गर्व से फूल जाएगा.

दरअसल हाल ही में मध्य प्रदेश के शहर उज्जैन की एक शादी में एक दूल्हा इसका अपवाद साबित हुआ. ये दूल्हा अपनी शादी के मौके पर समाज के लिए कुछ हट के करना चाहता था. इसलिए उसने साथ फैरे लेने से पहले दुल्हन के साथ मिल कुछ ऐसा कर दिया जिसे देख वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए.

दुल्हे ने अपनी शादी में रखा रक्दान का कार्यक्रम

दरअसल दूल्हा दुल्हन शादी की सारी रस्मे निभा के जैसे ही सात फैरो के लिए जा रहे थे तभी वहां डॉक्टर की एक टीम आ पहुंची. इन डॉक्टर्स को देख लोग घबरा गए. फिर दुल्हे ने सब को शांत कर अपने दिल की इच्छा बताई. दुल्हे का कहना था कि वो थैलीसीमिया से पीड़ित बच्चों के लिए ब्लड डोनेट करना चाहता हैं. इसलिए जो कोई भी अपनी इच्छा से इस ब्लड डोनेशन में मेरी हेल्प करना चाहता हैं वो आगे आकर अपना ब्लड दे सकता हैं.

इसके बाद दुल्हे की बात मान कई बारातियों ने कुछ यूनिट रक्त दान किया. इसके बाद दुल्हे ने दुल्हन के साथ मिलकर अपना रक्त भी दे दिया. ये रक्त थैलीसीमिया से पीड़ित बच्चों की मेडिकल सहायता ले लिए इस्तेमाल किया जाएगा.

दुल्हे की इस हरकत पर पहले तो वहां मौजूद सभी लोग हैरान हुए थे लेकिन जब दुल्हे ने उन सबको अपनी इच्छा के बारे में विस्तार से समझाया तो सभी के चेहरे पर मुस्कान आ गई. बस फिर क्या था देखते ही देखते पुरे उज्जैन और मध्य प्रदेश में दुल्हे के इस नेक काम और अनोखी शादी की खबर फ़ैल गई. हर कोई दुल्हे की इस नेक सोच की सराहना कर रहा हैं.

Check Also

जम्मू-कश्मीर का अधिवास कानून बाहरी से शादी करने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद

आजादी के बाद पहली बार ऐसा होगा, जब केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) के बाहर के …