युवाओं को भविष्य के संघर्ष के लिए सुदृढ़ करना शिक्षा का मूल उद्देश्य : केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम

बीकानेर, 15 जनवरी (हि.स.)। केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने शनिवार को बीकानेर में कहा कि स्किल्ड नौजवानों का निर्माण और युवाओं को भविष्य के संघर्ष के लिए सुदृढ़ करना ही शिक्षा का मूल उद्देश्य है।

आरएसवी शिक्षण समूह में 70 इंटरैक्टिव स्मार्ट बोड्र्स के इंस्टॉलेशन और संचालन प्रक्रिया के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए उन्होंने कहा कि जब विद्यार्थी प्रारंभिक काल से ही आधुनिकतम संसाधनों और टेक्नोलॉजीज का इस्तेमाल करना शुरू कर देगा तो उसके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी और वह अपने कौशल से देश के हित में भागीदार बन सकेगा।

मेघवाल ने कहा कि नई टेक्नोलॉजी सीखकर युवा अपनी स्किल्स को बढ़ाएंगे और स्किल इंडिया अभियान के साथ जुड़कर सुशासन में अपनी भागीदारी निश्चित करेंगे। मेघवाल ने आंकड़ों के साथ प्रस्तुत किया कि चीन में सकल घरेलू उत्पाद का ढाई फीसदी व्यवसायिक और तकनीकी शिक्षा के लिए खर्च होता है जबकि भारत इस दिशा में चीन से बहुत पीछे है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वेटरनरी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर डॉ. ए. के. गहलोत ने कहा कि टेक्नोलॉजी के साथ साथ स्किल्स को सीखना भी बहुत आवश्यक है। विशिष्ट अतिथि मैनेजमेंट ट्रेनर डॉ गौरव बिस्सा ने कहा कि टेक्नोलॉजी, टॉलरेंस और टाइमलीनेस के थ्री डी मॉडल को अपनाकर विद्यार्थी करियर में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि समाजसेवी अरुण प्रकाश गुप्ता, डूंगर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जी.पी.सिंह, आरएसवी शिक्षण समूह के सीईओ आदित्य स्वामी ने भी विचार रखे।

Check Also

ईडी की चार्जशीट में कहा गया कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री ने दी ट्रांसफर और पोस्टिंग के लिए अधिकारियों की सूची

मुंबई, 29 जनवरी (आईएएनएस) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 100 करोड़ पीएमएलए मामले में महाराष्ट्र के पूर्व …