महाराष्ट्र: किसानों के लिए ठाकरे सरकार ने खोला खजाना, बारिश से बर्बाद हुई फसलों के लिए देगी 10 हजार करोड़ का मुआवजा

महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को उन किसानों के लिए 10,000 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की है, जिनकी फसल राज्य में भारी बारिश के कारण बर्बाद हो गई है. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, डिप्टी सीएम अजीत पवार, जो वित्त विभाग का प्रभार संभाल रहे हैं, और पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण ने यहां मुंबई में संयुक्त रूप से इसकी घोषणा की.

सरकार ने एक बयान में कहा, “इस साल जून और अक्टूबर के बीच अत्यधिक भारी बारिश के कारण 55 लाख हेक्टेयर से अधिक भूमि पर कृषि फसलों को नुकसान पहुंचा है. किसानों को कुछ सहायता प्रदान करने के लिए, महाराष्ट्र सरकार ने प्रभावित किसानों को 10,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने का निर्णय लिया है.”

दो हेक्टेयर से ज्यादा का नहीं मिलेगा मुआवजा

भारी बारिश के कारण बर्बाद हुई फसल के लिए किसानों को मुआवजा दिया जाएगा. बयान में कहा गया है कि किसान की जमीन का आकार चाहे जो भी हो, किसानों को दो हेक्टेयर तक की फसल के नुकसान का मुआवजा मिलेगा.

कितना मिलेगा मुआवजा

बयान में कहा गया है कि राज्य सरकार ने सहायता वितरण के लिए NDRF (राष्ट्रीय आपदा राहत कोष) के संबंध में किसी और निर्देश की प्रतीक्षा नहीं करने का फैसला किया है. असिंचित भूमि पर फसलों के नुकसान के लिए किसानों को 10,000 रुपये प्रति हेक्टेयर, जबकि सिंचित भूमि पर फसल के नुकसान के लिए 15,000 रुपये प्रति हेक्टेयर मिलेगा. बयान में कहा गया है कि बागवानी के अंतर्गत आने वाली फसलों सहित 12 वर्षीय फसलों के लिए प्रभावित किसानों को 25,000 रुपये प्रति हेक्टेयर मिलेगा.

किसानों ने मांगी थी मदद

बारिश के कारण बर्बाद हुई फसलों को लेकर किसान लगातार मदद की गुहार लगा रहे थे. मराठवाड़ा के बीड, औरंगाबाद, उस्मानाबाद और लातूर में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था. वहीं नासिक, अहमदनगर, धुले और सोलापुर में नुकसान हुआ. नांदेड में बारिश के कारण फसल खराब हो गई. वहीं, ज्यादा बारिश के कारण प्याज की फसल बर्बाद हो गई.

Check Also

तिहाड़ जेल में बंद महाठग के साथ जैकलिन फर्नाडीज और नोरा फतेही का कनेक्शन आया सामने

नई दिल्ली: तिहाड़ जेल के अंदर ही बैठकर 200 करोड़ रुपए की वसूली का बड़ा रैकेट …