पहले दिन टीम इंडिया ने कर दी बड़ी गलती, हार सकती है टेस्ट मैच

भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा टेस्ट विशाखापत्तनम में खेला जा रहा है. टीम इंडिया पहली पारी में 396 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. यशस्वी जयसवाल ने दोहरा शतक लगाया. उन्होंने 19 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 209 रन बनाए. चूंकि विशाखापत्तनम की पिच पहले दिन बल्लेबाजी के लिए कारगर साबित हुई है, इसलिए जानकारों का मानना ​​है कि टीम इंडिया यहां करीब 50 रन से पिछड़ रही है.

टीम इंडिया के लिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ?

मैच खत्म होने के बाद इंग्लैंड के केविन पीटरसन ने इस बात का जिक्र किया. पीटरसन ने कहा कि भले ही ऐसा लग रहा है कि टीम इंडिया आगे चल रही है, लेकिन हकीकत इसके उलट है. क्योंकि टीम इंडिया ने आखिरी सेशन में तीन विकेट गंवाए और कई बल्लेबाज ऐसे रहे जिन्हें अच्छी शुरुआत तो मिली लेकिन वे इसका फायदा नहीं उठा सके.

पहली पारी में 450 रन होने चाहिए

यशस्वी जयसवाल को छोड़ दें तो भारतीय बल्लेबाजी क्रम में हर वो बल्लेबाज है जो अच्छी शुरुआत मिलने के बावजूद अपनी पारी को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाया है. यही वजह है कि दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया कुछ रनों से पिछड़ गई होगी. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर जहीर खान ने भी कहा कि अब बहुत कुछ दूसरे दिन के पहले सत्र पर निर्भर करेगा.

जहीर खान ने कहा कि अगर टीम इंडिया सुबह के सत्र में रन जोड़ती है तो इंग्लैंड बैकफुट पर जा सकता है. लेकिन अगर इंग्लैंड ने इस सत्र में भी अच्छा प्रदर्शन किया तो टीम इंडिया मुश्किल में पड़ जाएगी. चूंकि पिच अभी भी बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त दिख रही है, इसलिए भारतीय टीम का स्कोर कम से कम 450 तक पहुंचना चाहिए।

भारत ने गंवाया बड़ा मौका?

यह देखते हुए कि विशाखापत्तनम की पिच बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त थी, बल्लेबाजों को लगा होगा कि उन्होंने एक बड़ा मौका गंवा दिया है। क्योंकि इंग्लैंड की टीम जब बल्लेबाजी करने आएगी तो बेसबॉल जितनी तेजी से रन बनाएगी. टीम इंडिया की कोशिश अब इंग्लैंड को कम स्कोर पर रोकने की होगी. पिच को देखें तो टीम इंडिया का स्कोर काफी ज्यादा होना चाहिए.