Tax Saving Investments:इन 7 योजनाओं में निवेश कर बचा सकते हैं इनकम टैक्स, जानिए डिटेल

7 टैक्स सेविंग स्कीम: जब मेहनत की कमाई इनकम टैक्स में जाती है तो हर किसी को परेशानी होती है। नया साल शुरू हो चुका है। ऐसे में आपके लिए भी टैक्स प्लानिंग शुरू करना बेहद जरूरी है. इस प्लानिंग को आसान बनाने के लिए हम आपको कुछ ऐसी योजनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिनमें निवेश करके आप अपनी मेहनत की कमाई का एक बड़ा हिस्सा इनकम टैक्स से बचा सकते हैं। यहां जानिए ऐसी ही 7 योजनाओं के बारे में-

पीपीएफ योजना

पब्लिक प्रोविडेंट फंड जिसे आम तौर पर पीपीएफ कहा जाता है. यह एक ऐसी स्कीम है जिसमें आपको गारंटीड रिटर्न मिलता है और आपका निवेश बिल्कुल सुरक्षित रहता है। पीपीएफ 15 साल बाद मैच्योर होता है यानी यह एक लंबी अवधि की निवेश योजना है. फिलहाल 7.1 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है. पीपीएफ में किए गए निवेश को ईईई कैटेगरी में रखा गया है. इसका मतलब है कि आपका निवेश, ब्याज और परिपक्वता राशि पूरी तरह से कर मुक्त है। पीपीएफ में निवेश करने पर इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक की टैक्स छूट मिलती है.

ईएलएसएस योजना

म्यूचुअल फंड की इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ईएलएसएस) एक ऐसा विकल्प है, जो बेहतर रिटर्न के साथ-साथ टैक्स बचत भी प्रदान करता है। इसमें भी आप सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक टैक्स बचा सकते हैं और एक बड़ा फंड भी तैयार कर सकते हैं. ईएलएसएस सबसे कम लॉक-इन अवधि वाला उत्पाद है। ईएलएसएस में निवेश को 3 साल तक भुनाया नहीं जा सकता। हालांकि आपको इसके जोखिम को समझने के बाद ही पैसा निवेश करना चाहिए।

एसएसवाई योजना

अगर आप बेटी के पिता हैं तो उसके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश कर सकते हैं। फिलहाल इस पर 8.2 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है. इस स्कीम का फायदा यह है कि न सिर्फ आपकी बेटी के लिए अच्छा फंड जमा हो जाएगा, बल्कि आप 80C के तहत सालाना 1.5 लाख रुपये तक टैक्स भी बचा सकते हैं. इस योजना में न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है और इसे अधिकतम दो बेटियों के लिए खोला जा सकता है।

एनपीएस योजना

अगर आप टैक्स बचाना चाहते हैं तो नेशनल पेंशन सिस्टम यानी एनपीएस में भी निवेश कर सकते हैं। इसमें आपको 80C के तहत छूट और 80CCD(1B) के तहत 50 हजार रुपये की टैक्स छूट मिल सकती है. रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए यह एक बेहतर स्कीम है. इसमें आप हर साल निवेश पर टैक्स छूट के साथ बुढ़ापे में पेंशन का भी लाभ उठा सकते हैं।

एससीएसएस योजना

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना यानी एससीएसएस बुजुर्गों के लिए सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एक विशेष योजना है। पोस्ट ऑफिस की बचत योजना सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत वरिष्ठ नागरिकों को जमा राशि पर 8.20 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इस योजना के तहत 1000 रुपये से लेकर 30 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए यह योजना बेहद फायदे का सौदा है. इसके जरिए खाताधारक आईटीआर दाखिल कर धारा 80सी के तहत टैक्स छूट का दावा कर सकते हैं।

एनएससी योजना

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट यानी एनएससी भी सुरक्षित और गारंटीड रिटर्न देने वाली योजना है। इसमें कोई भी भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है. एनएससी में निवेश की शुरुआत 1000 रुपये से की जा सकती है. निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है. फिलहाल इस पर 7.7 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है. यह खाता देश के किसी भी डाकघर में खोला जा सकता है. इसमें भी 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ मिलता है.

एफडी योजना

अगर आप 5 साल के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी कराते हैं तो इस पर आपको टैक्स छूट का लाभ मिलता है. इसलिए इस FD को टैक्स सेविंग FD भी कहा जाता है. टैक्स सेविंग एफडी का विकल्प आपको सिर्फ बैंकों में ही नहीं बल्कि पोस्ट ऑफिस में भी मिलता है। ब्याज दरें हर जगह अलग-अलग होती हैं. आप ब्याज दर देखकर अपनी सुविधा के अनुसार निवेश कर सकते हैं। आप 80C के तहत टैक्स छूट का भी लाभ उठा सकते हैं.