Tata Steel Merger: टाटा ग्रुप की 7 कंपनियों का होगा विलय, जानिए क्यों हो रहा है मर्जर और क्या होगा इसका असर

8992263980af692f5737cfa53365aa151663646223108402_original

Tata Steel Merger: देश की दिग्गज स्टील कंपनी Tata Steel को लेकर एक बड़ी खबर आई है। खबर है कि टाटा समूह की सभी मेटल कंपनियों का टाटा स्टील (टाटा स्टील मर्जर) में विलय हो जाएगा। इसके मुताबिक टाटा समूह की धातु से जुड़ी कंपनियां अब टाटा स्टील के दायरे में आएंगी। इसके बाद टाटा स्टील के शेयरों में आज शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है.

टाटा स्टील ने सेबी को दी जानकारी

टाटा स्टील की ओर से सेबी को जानकारी दी गई है कि उसके साथ छह अनुषंगियों का विलय करने की योजना को मंजूरी मिल गई है। शुक्रवार को एक बयान में कहा गया कि इस संबंध में एक प्रस्ताव को कंपनी के बोर्ड ने कल मंजूरी दे दी। टाटा स्टील द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, “टाटा स्टील के निदेशक मंडल ने टाटा स्टील के साथ छह सहायक कंपनियों के विलय की प्रस्तावित योजना पर विचार किया और उसे मंजूरी दी।” बोर्ड ने टाटा स्टील की सहायक कंपनी टीआरएफ लिमिटेड (34.11 प्रतिशत हिस्सेदारी) के टाटा स्टील लिमिटेड के साथ विलय को भी मंजूरी दे दी।

विलय में किन कंपनियों के नाम हैं?

 

ये सहायक कंपनियां टाटा स्टील लॉन्ग प्रोडक्ट्स लिमिटेड, द टिनप्लेट कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड, टाटा मेटालिक्स लिमिटेड, द इंडियन स्टील एंड वायर प्रोडक्ट्स लिमिटेड, टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड और एस एंड टी माइनिंग कंपनी लिमिटेड हैं।

जानिए इन कंपनियों में टाटा स्टील की कितनी भागीदारी

टाटा स्टील लॉन्ग प्रोडक्ट्स लिमिटेड में टाटा स्टील की 74.91 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसके अलावा, यह द टिनप्लेट कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड में 74.96 प्रतिशत, टाटा मेटल्स लिमिटेड में 60.03 प्रतिशत और इंडियन स्टील एंड वायर प्रोडक्ट्स लिमिटेड में 95.01 प्रतिशत का मालिक है, जबकि टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड और एस एंड टी माइनिंग कंपनी लिमिटेड दोनों पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियां हैं।

Check Also

0b5fe4468182249e2689497eebb3c1051664196773368384_original

4WD फीचर, माइल्ड-स्ट्रांग हाइब्रिड इंजन; भारत में लॉन्च हुई नई मारुति ग्रैंड विटारा

बहुप्रतीक्षित मारुति ग्रैंड विटारा आखिरकार भारत में लॉन्च हो गई है। इस कार के लॉन्च …