तमिलनाडु: बेटी की पढ़ाई के लिए कर्ज नहीं दिया तो एक साधु ने बैंक लूटने के लिए ली बंदूक, जानिए क्या है मामला

e4b28bbfa2193a22b25cbadabf38f305166374868841677_original

चेन्नई: तमिलनाडु के तिरुवरूर में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है , जहां एक साधु ने अपनी बेटी को पढ़ने के लिए लॉन नहीं दिए जाने पर बैंक लूटने के लिए बंदूक ले ली. इतना ही नहीं साधु ने अपने फेसबुक पेज पर घटना का सीधा प्रसारण भी किया। समाचार यह है कि साधु तिरुमलाई स्वामी मूलगुंडी में ईदी-मिनाल (गरज और तूफान) संगम चलाते हैं। उनकी बेटी चीन से मेडिसिन की पढ़ाई कर रही है। उन्होंने अपनी पढ़ाई के लिए कर्ज लेने के लिए सिटी यूनियन बैंक से संपर्क किया। 

हालांकि बैंक अधिकारियों ने इस साधु को कर्ज देने के एवज में संपत्ति के दस्तावेज मांगे. इस पर साधु ने कहा कि जब बैंकों को ब्याज सहित पैसा वापस मिलेगा, तो वे संपत्ति के दस्तावेज क्यों मांग रहे हैं। इस पर बैंक अधिकारियों ने साधु को कर्ज देने से मना कर दिया और वह वहां से अपने घर चला गया, इसके बाद साधु अपने घर चला गया और गन राइफल लेकर बैंक लौट आया. यहां बैठे साधु ने पहले धूम्रपान किया और फिर कर्मचारियों को धमकाना शुरू कर दिया।

साधु ने बैंक कर्मचारियों से कहा कि बैंक ने उन्हें कर्ज देने से इनकार कर दिया है, इसलिए वह बैंक को लूटने जा रहा है, इस बीच साधु ने अपने फेसबुक पेज पर लाइव स्ट्रीमिंग भी शुरू कर दी थी। हालांकि किसी ने घटना की सूचना पुलिस को दी और पुलिस ने आकर साधु को गिरफ्तार कर लिया।

 

 

ऋण युक्तियाँ: धन की आवश्यकता है! एलआईसी की बीमा पॉलिसी पर लोन कैसे प्राप्त करें, जानिए नियम और प्रक्रियाएं – 

एलआईसी पॉलिसी पर लोन:  आजकल विशेषज्ञ लोगों को बीमा पॉलिसी खरीदने की सलाह देते हैं। यह आपके लिए बचत करने का एक बेहतर विकल्प है और आपको बीमा कवर का लाभ भी देता है। आजकल कई बीमा कंपनियां बाजार में आ गई हैं, लेकिन आज भी देश में बड़ी संख्या में लोग भारतीय जीवन बीमा निगम में निवेश करना पसंद करते हैं।

एलआईसी की कई पॉलिसियों में निवेश करने पर आपको लोन की सुविधा भी मिलती है। कभी-कभी हमें अचानक पैसे की जरूरत पड़ती है। ऐसे में पैसों की इस जरूरत को पूरा करने के लिए हम किसी बैंक से कर्ज लेना चुनते हैं, लेकिन बैंक से कर्ज लेना इतना आसान नहीं होता।

कई बार लोग पर्सनल लोन के लिए बैंकों में जाते हैं और कई बार कम सैलरी या क्रेडिट स्कोर के कारण लोन मंजूर नहीं होता है। ऐसे में आप अपनी एलआईसी पॉलिसी पर लोन की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

जब आप एलआईसी पॉलिसी पर लोन लेते हैं तो आपको कई लाभ मिलते हैं। सबसे पहले इस लोन में आपको पर्सनल लोन की तुलना में कम ब्याज दर का भुगतान करना होता है। इसके साथ ही पॉलिसी पर लोन लेना बहुत आसान है। अगर आप भी एलआईसी पॉलिसी पर लोन लेने की सोच रहे हैं तो हम आपको इसकी जानकारी दे रहे हैं-

एलआईसी  पॉलिसी पर लोन लेने के कुछ खास नियम

हर एलआईसी पॉलिसी पर लोन की सुविधा उपलब्ध नहीं है। अधिकांश ऋण क्षेत्रीय और बंदोबस्ती नीतियों के विरुद्ध लिए जा सकते हैं।

आपको कितना लोन दिया जाएगा यह सरेंडर वैल्यू पर निर्भर करता है।

एक व्यक्ति को लोन सरेंडर वैल्यू के 80 से 90 प्रतिशत तक लोन मिल सकता है।

ब्याज आपके क्रेडिट स्कोर और प्रोफाइल जैसे वेतन आदि जैसी चीजों पर निर्भर करता है। यह 10 से 12 प्रतिशत के बीच हो सकता है।

अगर आपकी सरेंडर वैल्यू लोन की रकम से ज्यादा है तो आप लोन लेने के बाद भी पॉलिसी को बंद कर सकते हैं।

यदि आपकी पॉलिसी व्यक्तिगत ऋण के पुनर्भुगतान से पहले परिपक्व होती है, तो शेष ऋण राशि की प्रतिपूर्ति पॉलिसी के परिपक्वता मूल्य से की जाती है।

ऋण के लिए आवेदन कैसे करें

अगर आप अपनी एलआईसी पॉलिसी पर लोन लेना चाहते हैं, तो आप इसके लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आप एलआईसी ऑफिस जाएं और लोन फॉर्म भरें।

इसके बाद केवाईसी दस्तावेज जमा करें और अपना आवेदन पत्र जमा करें। साथ ही, आवेदन पत्र भरने से पहले सभी नियमों, शर्तों आदि को ध्यान से पढ़ें। इसके बाद केवाईसी के साथ मांगे गए दस्तावेज जमा करें। इसके बाद आपके ऋण आवेदन की जांच की जाएगी और स्वीकृत किया जाएगा।

Check Also

Rajpath-2022-09-30T170929.403-1

शाहजहाँ ने बनवाया था ताजमहल, सबूत नहीं… सुप्रीम कोर्ट ने मांगी तथ्यान्वेषी टीम

ताजमहल का असली इतिहास जानने की मांग वाली एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई है …