भारतीय संस्कृति के अग्रदूत एवं महान पुरोधा थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी: डॉ विमल

नवादा, 23 जून(हि. स.)। भारतीय जनता पार्टी नवादा जिला कार्यालय में गुरुवार को जनसंघ के संस्थापक डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि बलिदान दिवस के रूप में मनाई गयी। कार्यक्रम में डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं ने पुष्पांजलि अर्पित किया और नारे लगाये। अध्यक्ष संजय कुमार मुन्ना ने मुखर्जी का त्याग, तपस्या और बलिदान पर विस्तार से चर्चा की।

डॉक्टर विमल प्रसाद ने कहा कि जब तक सूरज चाँद रहेगा , डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का नाम रहेगा । डॉ विमल ने कहा पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी मैं देश की संस्कृति के लिए एक बहुत बड़ा कार्य किया जिसे जीवन में कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उनके आदर्शो को अपनाकर भारत को विश्व का धर्म गुरु बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी के आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने की जरूरत है ताकि हम अपनी पुरानी गरिमा को वापस लौटा सकें। डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कहा कि युवाओं की टोली बनाकर गांव-गांव घूमकर श्यामा प्रसाद के आदर्शों को प्रसारित किया जाएगा तभी हम सबल भारत की कल्पना भी कर सकते हैं।

Check Also

बिहार में असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM के 5 में से 4 विधायक RJD में शामिल

महाराष्ट्र के बाद बिहार में एक बड़ा राजनीतिक संकट शुरू हो गया है. इधर एआईएमआईएम प्रमुख …