बेगूसराय में सात जून से शुरू होगा ग्रीष्मकालीन रंग कार्यशाला ”रंग उमंग”

बेगूसराय, 26 मई (हि.स.)। राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जन्मभूमि बेगूसराय उद्योग और साहित्य ही नहीं, रंगकर्म की भी राजधानी है। यहां के रंगकर्मी देश के विभिन्न राज्यों में जाकर अपनी विधा का प्रदर्शन करने के साथ-साथ लगातार रंगकर्म का नया पौधा भी तैयार कर रहे हैं। इसके लिए विभिन्न संस्थाएं बच्चों को प्रशिक्षित कर उन्हें रंगकर्म से जोड़ते हैं।इस कड़ी में आकाश गंगा रंग चौपाल एसोसिएशन बरौनी द्वारा प्रतिवर्ष लगने वाला ग्रीष्मकालीन रंग कार्यशाला का आयोजन इस बार सिमरिया पंचायत-दो के कसहा गांव में किया जाएगा।

एसोसिएशन के सचिव गणेश गौरव ने बताया कि ग्रीष्मावकाश में आकाशगंगा द्वारा आयोजित होने वाले ग्रीष्मकालीन रंग कार्यशाला रंग उमंग 2022 का आयोजन सात से 19 जून तक उत्क्रमित मध्य-सह-उच्च विद्यालय कसहा में किया जाएगा। जिसमें आठ से 18 वर्ष तक के सभी चयनित बच्चों को संगीत, नृत्य, ललित कला, नाटक और व्यक्तित्व विकास जैसे महत्वपूर्ण विधाओं पर बच्चों को 13 दिनों तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। सक्रिय सदस्य सहित कई राष्ट्रीय प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्य में हिस्सा लेंगे।

एसोसिएशन के संयोजक डॉ. कुंदन कुमार ने बताया कि इस बार रंग उमंग कार्यशाला, संस्था के संस्थापक अध्यक्ष स्मृति शेष शंभू साह को समर्पित किया जा रहा है। जिसमें पंचायत के जनप्रतिनिधियों सहित विद्यालय परिवार का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है। दूसरी और कार्यशाला को लेकर एसोसिएशन के अध्यक्ष अमर ज्योति, कोषाध्यक्ष रूपेश कुमार सहित अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा कार्यशाला की तैयारी शुरू कर दी गई है।

गणेश गौरव ने बताया कि आकाश गंगा द्वारा ग्रामीण परिवेश में इस तरह के कार्यशाला आयोजन करने के पीछे बाल रंगमंच को सुदृढ़ करना है। इसके साथ ही लोक कलाओं के संवर्धन और उनके विकास के लिए गांव की ओर जाना अनिवार्य है।

उन्होंने बताया कि कार्यशाला में लोक संस्कृति के साथ-साथ बच्चों के बीच नैतिक संस्कार कैसे बना रहे इसके लिए टीम विशेष प्रयास करेगी। कार्यशाला में विविध विधाओं के अलावे बच्चों को कई तरह की जानकारियों से लैस किया जाएगा, जो उनके जिंदगी के लिए मददगार साबित होगा।

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व आकाशगंगा द्वारा कार्यशाला का आयोजन बीहट, बारो, सिसवा, बरौनी, वीरपुर, भगवानपुर, तेघड़ा, बखरी, सिमरिया, रचियाही, मरांची पटना एवं रतौली सहित कई अन्य जगहों पर रंग उमंग कार्यशाला का आयोजन किया जा चुका है।

Check Also

बेहतर प्रसव सेवा देने के लिए सदर अस्पताल को मिला राष्ट्रीय स्तरीय लक्ष्य प्रमाणीकरण

लक्ष्य प्रमाणीकरण के लिये कर्मियों का प्रयास सराहनीय-सिविल सर्जन किशनगंज,01 जुलाई (हि.स.)। जिले के सदर …