आधुनिक तकनीक से रोकें आर्थिक अपराध : मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) के 65वें स्थापना दिवस पर संदेश देते हुए कहा कि नई तकनीक का इस्तेमाल कर आर्थिक अपराधों को रोका जाना चाहिए. पीएम मोदी ने बढ़ते ऑनलाइन अपराध पर चिंता जताई और अधिकारियों को इसके खिलाफ लड़ने का निर्देश दिया.

पीएम मोदी ने डीआरआई के स्थापना दिवस पर कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भगोड़े आर्थिक अपराधियों के खिलाफ लड़ाई में भारत हमेशा सबसे आगे रहा है. भारत ऐसे अपराधियों को वापस लाने और उनके खिलाफ उचित कार्रवाई करने के लिए लगातार आवाज उठाता रहा है। वित्तीय अपराध को रोकने के लिए अधिकारियों को नवीनतम तकनीक का उपयोग करना समय की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में आर्थिक अपराध बढ़े हैं। जब समस्या वैश्विक है तो समाधान भी वैश्विक होना चाहिए। सभी देशों को संगठित होकर ऐसे अपराधों के खिलाफ लड़ने की जरूरत है।डीआरआई की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संगठन देश के आर्थिक हितों की रक्षा के लिए पुरजोर कोशिश कर रहा है। साल 2021-22 में डीआरआई ने 3463 किलो हेरोइन, 833 किलो सोना और 321 किलो कोकीन जब्त किया था। डीआरआई के स्थापना दिवस पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अपराधी अधिकारियों से ज्यादा शातिर नहीं हो सकते। देश को बड़ी मात्रा में ड्रग्स की आपूर्ति करने वाले ड्रग रैकेट के दानदाताओं और मास्टरमाइंड को गिरफ्तार करना आवश्यक है। उन्होंने तकनीक को दोधारी तलवार बताया और कहा कि अपराधी तकनीक का इस्तेमाल कर अपराध करते हैं। तकनीक के इस्तेमाल से ही इससे लड़ा जा सकता है। भारत को ड्रग्स पर नियंत्रण के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि एजेंसी देश की सुरक्षा, देश की आर्थिक सुरक्षा और देशवासियों के आर्थिक हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने प्रौद्योगिकी का उपयोग कर इसे और अधिक कुशल बनाने पर जोर दिया।

Check Also

Skin Care Tips: गुलाबी ठंड में भी चाहिए साफ और ग्लोइंग स्किन, स्किन केयर रूटीन में शामिल करें ये चीजें..

हर कोई अपनी त्वचा से प्यार करता है और हर मौसम में इसे साफ और …