छह दिन की एकतरफा गिरावट के बाद शेयर बाजार में सुधार

वैश्विक बाजारों से मिले संकेतों के बीच सोमवार को भारतीय शेयर बाजारों में तेजी रही। पिछले हफ्ते एकतरफा गिरावट के बाद सोमवार को शेयर बाजार में अच्छी बढ़त देखने को मिली. बाजार में बिकवाली के बीच दो प्रमुख सूचकांक ग्रीन जोन में बंद हुए। सोमवार को सेंसेक्स 237.42 अंक यानी 0.46 फीसदी की बढ़त के साथ 51,597.84 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 56.65 अंक यानी 0.33 फीसदी की तेजी के साथ 15,350.15 अंक पर बंद हुआ था. सेंसेक्स में सोमवार को 13 कंपनियों के शेयरों में गिरावट और 17 शेयरों में तेजी रही। टाटा स्टील के शेयरों में सोमवार को सबसे ज्यादा गिरावट आई, इसके बाद इंडसइंड बैंक, रिलायंस, एमएंडएम, एनटीपीसी, एसबीआई, एक्सिस बैंक, लार्सन एंड टुब्रो, पावर ग्रिड, बजाज फिनसर्व, आईसीआईसीआई बैंक और इंडियन एयरटेल का स्थान रहा।

हिंदुस्तान यूनिलीवर ने दर्ज की सबसे ज्यादा बढ़ोतरी

सुधरे बाजार में सोमवार को हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी रही। शीर्ष लाभ के रूप में स्टॉक 3.9 प्रतिशत बढ़कर बंद हुआ। इसके अलावा शीर्ष लाभार्थियों में एचडीएफसी, अल्ट्रा केमिकल, एशियन पेंट्स, एचडीएफसी बैंक, विप्रो, इंफोसिस, सन फार्मा हैं। सोमवार को सेक्टोरल इंडेक्स में मिलाजुला माहौल रहा। निफ्टी बैंक, निफ्टी ऑटो, मीडिया, मेटल, पीएसयू बैंक, प्राइवेट बैंक, रियल्टी, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स और ऑयल एंड गैस सेक्टर के इंडेक्स सोमवार को निचले स्तर पर बंद हुए जबकि हेल्थकेयर इंडेक्स, फार्मा, आईटी, एफएमसीजी, फाइनेंशियल सर्विसेज सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को शेयर बाजार ने हरे निशान पर कारोबार करना शुरू किया और पिछले दिनों की तुलना में लगातार गिरावट पर ब्रेक लगाया और अंत में हरे निशान पर बंद हुआ. एक तरफ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 237 अंक ऊपर 51,598 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 57 अंक बढ़कर 15,350 पर बंद हुआ। इससे पहले बीएसई सेंसेक्स 140 अंक बढ़कर 53,500 पर खुला, जबकि एनएसई निफ्टी 25 अंक बढ़कर 15,318 पर खुला। पिछले हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार लगातार छठे दिन गिरावट के साथ बंद हुआ। बीएसई सेंसेक्स 135 अंक गिरकर 51,360 पर जबकि एनएसई निफ्टी 67 अंक गिरकर 15,293 पर बंद हुआ।

Check Also

Packers and Movers Mumbai for the high quality packing and moving services 

Often there is a need for high-end transportation with the proper handling of the goods.The …