Startup India: स्टार्टअप इंडिया ने लॉन्च किया MAARG पोर्टल, स्टार्टअप्स को मिलेंगी कई सुविधाएं

MAARG Portal: भारत के स्टार्टअप इंडिया के तहत लॉन्च किए गए स्टार्टअप्स को देश और दुनिया में खूब पसंद किया जा रहा है। स्टार्टअप इकोसिस्टम के मामले में भारत वैश्विक बाजार में तीसरे स्थान पर है। स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत केंद्र सरकार ने की थी, अब एक नया रूट पोर्टल (MAARG Portal) लॉन्च किया गया है। यह पोर्टल लोगों को एक सफल स्टार्टअप बनने का मार्ग प्रशस्त करने में मदद करेगा। इससे आप एक बेहतर स्टार्टअप खोलने में मदद ले सकते हैं।

MAARG नाम क्यों पड़ा?

आइए आपको बताते हैं MARG नाम रखने के पीछे की वजह। यदि आप इस नाम को डिकोड करते हैं, तो एम मार्गदर्शन के लिए खड़ा है, ए सलाहकार के लिए खड़ा है, दूसरा ए सहायता के लिए खड़ा है, आर लचीलापन के लिए खड़ा है और जी विकास के लिए खड़ा है। इन सबको मिलाकर एक मार्ग (MAARG) बनता है। सरकार स्टार्टअप्स को लॉन्च करने से लेकर उन्हें आगे और आगे ले जाने का मार्ग प्रशस्त कर रही है।

स्टार्टअप्स को मदद मिलेगी

केंद्र सरकार अच्छे स्टार्टअप बनाने के लिए हर संभव मदद कर रही है। जिसके लिए MAARG पोर्टल बनाया गया है। उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत एक राष्ट्रीय सलाह मंच है। यह स्टार्टअप इंडिया का एक हिस्सा है। सरकार ने MAARG पोर्टल पर पंजीकरण शुरू कर दिया है और देश भर के स्टार्टअप्स से आवेदन आमंत्रित किए हैं।

बहुत सारे स्टार्टअप और यूनिकॉर्न

इसके बाद MAARG में आने वाले स्टार्टअप्स को अपने-अपने क्षेत्र से जुड़कर अपने आइडिया को सफल बनाने का मौका मिलेगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से स्टार्टअप्स और विशेषज्ञों को जोड़ा जाएगा। मालूम हो कि देशभर में लगातार नए स्टार्टअप खुल रहे हैं। भारत में अब तक 82,000 से अधिक मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। इनमें यूनिकॉर्न की संख्या भी 107 के करीब पहुंच गई है।

इस तरह से आपको मदद मिलेगी

MAARG पोर्टल की मदद से स्टार्टअप बेहतर तरीके से काम कर सकते हैं। इसमें आप शिक्षाविदों, उद्योग विशेषज्ञों, सफल स्टार्टअप संस्थापकों, निवेशकों से जुड़ सकते हैं। साथ ही आपको विश्व स्तरीय सलाहकारों और विशेषज्ञों से जुड़ने का अवसर मिल सकता है।

400 से अधिक विशेषज्ञ

केंद्र सरकार ने MAARG पोर्टल का पहला चरण पूरा कर लिया है। इसके तहत सरकार ने इस पोर्टल पर विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े 400 से अधिक विशेषज्ञों को लगाया है। जो आपकी सभी समस्याओं का समाधान कर सकता है। अब सरकार इसका दूसरा चरण शुरू करने जा रही है, जिसमें वह देश भर के स्टार्टअप्स को इस पोर्टल से जोड़ने जा रही है। इसके बाद आखिरी चरण में मेंटर्स और स्टार्टअप्स को जोड़ना है।

Check Also

बैंक ने अलर्ट पर ध्यान नहीं दिया और फिर…; उप प्रबंधक ने बिजली बिल के नाम पर की बड़ी ठगी

ऑनलाइन फ्रॉड: पिछले कुछ दिनों से ऑनलाइन फाइनेंशियल फ्रॉड की घटनाओं में काफी इजाफा हुआ है. नागरिकों …