SriGangaNagar: मेहनत और लग्न से प्राप्त की सफलता, खुद काम मांगने गए, आज सैकड़ों को दे रहे काम

SriGangaNagar: राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के जैतसर निवासी राज चांगरा मुम्बई के लिए खुद की रोजी-रोटी की तलाश में निकले थे और आज कांस्टिग डायरेक्टर बनकर अनेक उभरते कलाकारों को काम दे रहे है. ग्रामीण क्षेत्र से मायानगरी तक के सफर में उन्हें अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ा.

राज चांगरा गए तो थे मायानगरी मुम्बई में काम की तलाश करने पर उनके संघर्ष ने उन्हें ऐसे मुकाम तक पहुंचा दिया कि वह अब सैकड़ों लोगों को काम दिलवा रहे है. मुम्बई में रहने वाले कास्टिंग डायरेक्टर राज चांगरा कोरोना काल के दौरान मुम्बई गए थे उस समय फिल्म इंडस्ट्री में अधिकतर कार्य बंद थे और उस समय राज नवोदित कलाकारों का सहारा बना और उन्हें कार्य दिलवाया. ग्रामीण क्षेत्र से मुम्बई मायानगरी के सफर में राज को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और आज राज चांगरा मुम्बई में मीरा रोड पर स्वयं की कास्टिंग से जुड़ी एक संस्था चला रहे है जिसके माध्यम से नए कलाकारों को धारावाहिक और लघु फिल्मों में काम दिलवा रहे है.

 

क्या कहना है राज चांगरा का
राज ने बताया कि बचपन से ही जीवन में संघर्ष का दौर जारी हो गया था. माता-पिता के निधन के बाद दादी शांति देवी ने उनका पालन-पोषण किया और दादी ने जैतसर ग्राम पंचायत में सफाई कर्मचारी के रूप में सेवाएं दी. दादी के बुजुर्ग होने पर मैंने भी सात साल सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य किया और इस दौरान मुझे नृत्य की ललक जगी और शहर में होने वाली प्रतियोगिताओं में भाग लिया. पहला स्थान आने पर खुशी हुई तो बाहर होने वाली प्रतियोगिताओं में भी भाग लेना शुरू किया. सूरतगढ़ में वर्ष 2014 में आयोजित नृत्य प्रतियोगिता में पहले स्थान पर रहा और इसके बाद राज्य स्तरीय और राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया. अब मन में सपना था कि एक अच्छा डांसर बनू और इसी सपने को साकार करने के लिए 2017 में मुम्बई आ गया. पास में अधिक रुपये नहीं थे तो कुछ दिन बिस्किट खाकर समय गुजारा और सारा दिन यह देखता कि कोई काम मिल जाए लेकिन दिन भर घूमने के बाद रात स्टेशन और अन्य स्थान पर कटती थी और इसी दौरान फिल्मों में काम की तलाश में आए लोगों से मुलाकात हुई. कुछ लोग सहारा बने और डांसिंग का कार्य छोड़कर अब स्ट्रगलर के लिए कुछ करने का मन में आया.

 

अनेक उभरते कलाकारों को दें रहे है काम
फिल्म में काम की तलाश में मुम्बई आए लोगों को इक्कठा किया और एक ग्रुप तैयार किया और इस दौरान एक जुनियर आर्टिस्ट से बात की तो उसने प्रोड्यूसर से मिलवाया. उन्हें धारावाहिक में कुछ सह किरदारों की तलाश थी और वहीं से एक नई शुरुआत हुई. फिर एक लघु फिल्म में कुछ किरदार दिए और 2018 में पहली तनख्वाह के रूप में 20 हजार रुपये मिले तो बड़ा सहयोग मिला. इसके बाद नृत्य कला को छोड़ दिया और कास्टिंग डायरेक्टर के रूप में काम करना शुरू कर दिया. संघर्ष के बाद एलियन, ब्रहास्त, क्राइम अलर्ट, क्राइम पैट्रोल, सावधान इंडिया, बेरिस्टर बाबू, गुड न्यूज और शादी मुबारक में अनेक किरदारों को अभिनय का कार्य दिलवा चुके है. इस दौरान राज ने बताया कि कोरोना काल के दौरान भी उन्होंने अनेक संघर्षशील लोगों को कार्य दिलवाया है और आने वाले दिनों में उनके द्वारा कास्टिंग किए किरदारों के दो शो टीवी पर आ रहे है. साथ ही उन्होंने बताया कि अब तो बड़े स्टार, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर से मिलते रहते है. वहीं राज ने बताया कि जीवन में कभी हार नहीं माननी चाहिए. वे स्वयं काम की तलाश में आए थे और अब सुकून हो रहा है कि वे लोगों को काम दे रहे है.

Check Also

कांग्रेस ने आज बुलाई CEC की बैठक, पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामों पर लगाएगी मुहर!

कांग्रेस (Congress) ने आगामी पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly election 2022) को लेकर उम्मीदवारों के …