श्रीश्री अश्वक्लान्त देवालय प्रबंधन समिति ने राज्यपाल से की मुलाकात

गुवाहाटी, 02 फरवरी (हि.स.)। तीसरी बार श्रीश्री विष्णु महायज्ञ का आयोजन विष्णुतीर्थ श्रीश्री अश्वक्लान्त देवालय में किया जा रहा है। 15 मार्च से तीन दिनों तक महाविष्णु यज्ञ आयोजित होगा। देवालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष लखेश्वर शर्मा, उपाध्यक्ष दिलीप शर्मा, पत्रकार मुकुटेश्वर गोस्वामी, हेमंत कुमार शर्मा और अखिल भट्टाचार्य आज सुबह 11 बजे राजभवन पहुंचे और राज्यपाल गुलाब चंद कटारिया से मुलाकात की। बैठक के दौरान प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को श्रीश्री अश्वक्लान्त देवालय में चल रहे निर्माण कार्य के बारे में जानकारी दी। राज्यपाल ने देवालय प्रबंध समिति द्वारा आयोजित श्रीश्री विष्णु महायज्ञ में भाग लेने के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया। श्रीश्री विष्णु महायज्ञ परिचालन के लिए मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्व सरमा और रिनिकी भुइयां शर्मा मुख्य संरक्षक, मुख्यमंत्री के विशेष ड्यूटी अधिकारी हेमंत चौधरी, अध्यक्ष और देवालय प्रबंध समिति के लखेश्वर शर्मा को सचिव के रूप में शामिल कर एक मजबूत कमेटी बनायी गयी है।

15 मार्च को धर्म ध्वज फहराने के साथ महाविष्णु यज्ञ का शुभारंभ किया जाएगा । इसके बाद विशाल धार्मिक जुलूस निकाला जाएगा। तीन दिनों तक कीर्तन, शंख, घंटी की ध्वनि के नाम का जाप करने से मंदिर में आध्यात्मिक माहौल बनेगा और धर्मालोचनी सभा का आयोजन किया जाएगा, भारत के विभिन्न प्रान्तों से संतों की उपस्थिति रहेगी। वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत देवालय परिसर में सामीन, अशोक, रुद्राक्ष, चंदन और बरगद के पेड़ों के पौधे लगाए जाएंगे। प्रतिदिन श्रद्धालुओं को भोग वितरित किया जाएगा।

असम सहित भारत के विभिन्न हिस्सों से आने वाले संत और श्रद्धालु महायज्ञ में भाग लेंगे। 17 मार्च को 51 हजार आहुति के साथ तीसरे महायज्ञ की पूर्णाहुति होगी।