Sovereign Gold Bond: सस्ते में सोना खरीदने का आज आखिरी मौका, ऑनलाइन आवेदन पर मिल रही छूट

नई दिल्ली. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) स्कीम के तहत सस्ते में सोना खरीदने का आज आखिरी मौका है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की नौवीं सीरीज का सब्सक्रिप्शन बीते 10 जनवरी को खुला था और आज पांचवें दिन यह बंद होगा. 5 हजार रुपये से कम रकम निवेश करके सरकार की सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम का फायदा उठाया जा सकता है.

सरकार ने नवंबर 2015 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की शुरुआत की थी. आरबीआई (RBI) सरकार की तरफ से यह बॉन्ड जारी करता है. इसी कड़ी में आज से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की नौवीं सीरीज (Sovereign Gold Bond Scheme 2021-22 – Series-IX) की बिक्री शुरू हो रही है. यह स्कीम सिर्फ पांच दिन के लिए (10 से 14 जनवरी तक) खुली है. इस दौरान निवेशकों के पास बाजार से कम रेट्स में गोल्ड खरीदने का मौका होगा.

 

ऑनलाइन आवेदन पर प्रति ग्रांम 50 रुपये की मिलेगी छूट
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 सीरीज-9 के लिए सोने का दाम 4,786 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. आरबीआई ने कहा है कि जो ग्राहक इस स्कीम में भाग लेने के लिए ऑनलाइन अप्लाई करेंगे और डिजिटल माध्यम से पेमेंट करेंगे, उन्हें 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट दी जाएगी. अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में ऑनलाइन आवेदन करते हैं और डिजिटल मोड से पेमेंट करते हैं तो आपको यह 4736 रुपये प्रति ग्राम के हिसाब से मिल जाएगा.

कहां से खरीद सकेंगे सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड?
मंत्रालय के मुताबिक, यह गोल्ड बॉन्ड सभी बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), डाकघर और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों, एनएसई (NSE) और बीएसई (BSE) के माध्यम से बेचे जाएंगे. बता दें कि स्माल फाइनेंस बैंक और पेमेंट बैंक में इनकी बिक्री नहीं होती है.

 

अधिकतम 4 किलोग्राम मूल्य तक का बॉन्ड खरीदने की सीमा
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में एक वित्त वर्ष में एक व्यक्ति अधिकतम 4 किग्रा गोल्ड के बॉन्ड खरीद सकता है. वहीं न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है. वहीं, ट्रस्‍ट या उसके जैसी संस्‍थाएं 20 किग्रा तक के बॉन्‍ड खरीद सकती हैं. बता दें आवेदन कम से कम 1 ग्राम और उसके मल्‍टीपल में जारी होते हैं.

Check Also

मल्टीबैगर स्टॉक: इस शेयर में साल भर में आया 1400% का उछाल, 1 लाख का निवेश 15 लाख में बदला

तमाम वित्तीय अस्थिरता और आर्थिक उतार-चढ़ाव के बीच शेयर मार्केट (share market) गुलजार है. मौजूदा …