विपक्ष से किसी ने दी आडवाणी को भारत रत्न की बधाई, किसी ने कसा तंज…

लाल कृष्ण आडवानी को भारत रत्न और विपक्ष की प्रतिक्रिया  बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर इसकी जानकारी दी और फोन पर बधाई दी. इस घोषणा के बाद कई नेताओं और मंत्रियों की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. इस बीच महिला कांग्रेस अध्यक्ष अलका लांबा, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और बीआरएस एमएलसी कविता ने भी प्रतिक्रिया दी है. जानिए किस पार्टी नेता ने दी प्रतिक्रिया. 

बीआरएस से के.कविता ने कहा- बधाई हो आडवाणी जी

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न देने की घोषणा पर भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) की एमएलसी कविता ने कहा, “भारत रत्न से सम्मानित होने के लिए लाल कृष्ण आडवाणी को बधाई। यह अच्छा है कि राम मंदिर का निर्माण भी हो गया है और लाल कृष्ण आडवाणी को भी. “भारत रत्न से सम्मानित किया गया है. बीजेपी का एजेंडा पूरा होता दिख रहा है.”

 

 

NCP की ओर से शरद पवार ने क्या कहा? 

शरद पवार ने कहा, ”मुझे खुशी है कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया है. उन्होंने देश के विकास में अमूल्य योगदान दिया है, हार्दिक बधाई..!”

 

 

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दी प्रतिक्रिया 

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न देने की घोषणा पर समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, ‘बीजेपी अपना वोट बैंक बचाने के लिए यह भारत रत्न दे रही है.’

 

 

कांग्रेस ने बीजेपी पर कसा तंज 

कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा, ”भारत रत्न पुरस्कार मिलने पर लालकृष्ण आडवाणी को निश्चित रूप से बधाई दी जानी चाहिए. मैं उन्हें भी बधाई देता हूं.’ कानून के मुताबिक, वह अपनी पार्टी की सरकार में सर्वोच्च पद के हकदार थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने कम से कम उन्हें भारत रत्न दिया, इसके लिए लालकृष्ण आडवाणी को बधाई।”

 

 

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने क्या कहा? 

महिला कांग्रेस अध्यक्ष अलका लांबा ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने सुना है कि मोहन भागवत को भारत रत्न दिया जाना है. उन्होंने आडवाणी को बधाई देते हुए कहा कि मोहन भागवत को भी भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा. वहीं, संदीप दीक्षित ने भी बधाई देते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी हर काम राजनीतिक फायदे के लिए करते हैं. कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी को 10 साल में सिर्फ सरकारी सम्मान दिया गया है, कोई वास्तविक सम्मान नहीं. मंच पर पीएम मोदी उन्हें लगातार नजरअंदाज करते रहे. उन्हें राष्ट्रपति भी नहीं बनाया गया.

शिवसेना नेता ने की मांग

शिवसेना (यूबीटी) नेता आनंद दुबे ने कहा कि, हमें अब पता चला है कि लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न से सम्मानित किया जा रहा है. ये ख़ुशी की बात है. उन्होंने सदैव विनम्रता की राजनीति की और सभी को एकजुट करने का प्रयास किया। लेकिन वीर सावरकर और बाला साहब ठाकरे को भारत रत्न कब मिलेगा? इन दोनों महान हस्तियों को भी भारत रत्न से सम्मानित नहीं किया जा रहा है.