पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी ने बढ़ाई गलन, 10 डिग्री से नीचे पहुंचा 22 शहरों का न्यूनतम तापमान

भोपाल: उत्तर भारत और पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी का असर मध्य प्रदेश में भी देखने को मिल रहा है। पूरा प्रदेश इन दिनों शीत लहर की चपेट में है। ठंडी हवाएं चलने से लोग दिन में भी कांपने को मजबूर हैं। बुधवार की रात भोपाल, इंदौर, ग्वालियर समेत 22 से ज्यादा शहरों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री के नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग की मानें तो अगले 3 दिन तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। इस दौरान शीतलहर और घने कोहरे के साथ कड़ाके की ठंड रहेगी।

भोपाल मौसम केन्द्र द्वारा गुरुवार को दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रदेश में बीती रात धार और पचमढ़ी सबसे ठंडे रहे। धार में 5.5 डिग्री और पचमढ़ी में न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिक डॉ. पीके साहा ने बताया कि 15 जनवरी तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से ऐसा होगा। नए सिस्टम से बारिश के आसार नहीं बन रहे हैं।

उन्होंने बताया कि जम्मू के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवातीय गतिविधियों के रूप में ट्रफ बनी हुई थी। इसके कारण हरियाणा के ऊपर चक्रवातीय गतिविधियां सक्रिय रहीं। इससे गत तीन-चार दिन मध्यप्रदेश के कई जिलों में बारिश हुई। अब यह सिस्टम खत्म हो गया है और मौसम साफ होने से ठंड भी बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि आगामी 24 घंटों के दौरान प्रदेशभर में शीत लहर चलेगी और घने कोहरे से दिन की शुरुआत होगी।

 

प्रदेश के कई शहरों में रात के तापमान में 2 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट हुई है। ग्वालियर में तापमान 6.1 डिग्री रहा। वहीं, इंदौर में 7.4, भोपाल में 7.7 और जबलपुर में 10.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा धार में तापमान 5.5, पचमढ़ी में 6.0, सागर में 6.4, रतलाम में 6.5, गुना में 6.8, टीकमगढ़ में 7.2, दतिया और खरगोन में 7.4, खजुराहो में 7.6, शाजापुर में 7.7, उज्जैन और राजगढ़ में 8.0, रीवा में 8.6, दमोह और मंडला में 9.0, खंडवा में 9.4, बैतूल में 9.5, सतना और सिवनी में तापमान 9.6 डिग्री रहा।

Check Also

दिल्ली सरकार स्कूलों को फिर से खोलने की सिफारिश करेगी; डिप्टी सीएम बोले

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बुधवार को राजधानी में स्कूलों को फिर से …