नींद विकार: 5 घंटे से कम नींद लेना? इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं

526106-sleep

5 घंटे से कम सोने के नुकसान  हम सभी जानते हैं कि नींद हमारे लिए कितनी जरूरी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि एक स्वस्थ वयस्क को 24 घंटे में से 8 घंटे सोना चाहिए। इससे आपकी सेहत में सुधार होगा। कुछ लोगों को सोने के लिए पर्याप्त समय मिलता है, लेकिन कुछ लोगों को किन्हीं कारणों से पर्याप्त नींद नहीं मिल पाती है। (5 घंटे से कम सोने के नुकसान)

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में मजदूर वर्ग के लोगों या छोटे बच्चों वाली माताओं को सोने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है। आइए जानें कि 5 घंटे से कम सोने वाले लोगों के शरीर पर इसका कितना बुरा असर पड़ सकता है।

5 घंटे से कम सोने के नुकसान

 

1. स्मृति हानि

अगर हम 5 घंटे की नींद भी नहीं लेते हैं, तो यह दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। जब आपका दिमाग नींद के दौरान काम करता है तो चीजों को याद रखना आसान हो जाता है। इसके विपरीत अगर हम कम सोते हैं तो याददाश्त भी कम हो जाती है। 

 

2. मूड स्विंग (Mood Swing)

अगर हम पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो दिमाग पूरी तरह से थक जाता है। जिससे हमारा मूड भी सामान्य नहीं रह पाता है। ऐसी स्थितियों में अवसाद, चिंता, तनाव और मिजाज अनिवार्य है। इसलिए 8 घंटे की नींद जरूर लें।

3. कमजोर प्रतिरक्षा

कोरोना संक्रमण के समय से ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की बात चल रही है ताकि बीमारी से बचा जा सके। वहीं अगर हम 5 घंटे की नींद भी नहीं ले पाते हैं तो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है।

 

4. मधुमेह जोखिम

मधुमेह न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में एक गंभीर बीमारी बन गई है। अगर आप इसका शिकार नहीं होना चाहते हैं तो 8 घंटे की नींद जरूर लें। नहीं तो ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है और डायबिटीज होने का खतरा रहता है।

Check Also

Heart Attack: देश में क्यों बढ़ी हार्ट अटैक की दर….

मुंबई:  कभी हार्ट अटैक को बूढ़े लोगों की बीमारी माना जाता था। लेकिन कोरोना के …