Side Effects of Momos: स्वादिष्ट मोमोज पहुंचाते हैं सेहत को गंभीर नुकसान, जानिए इसके 5 साइड इफेक्ट्स

 Side Effects of Momos: भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अक्सर समय बचाने के लिए कई शॉर्टकट का सहारा लेते हैं. चाहे वह घूमने-फिरने का तरीका हो या भूख मिटाने के लिए भोजन, लोग अक्सर उन चीजों को पसंद करते हैं जो उनका समय बचाती हैं। यही कारण है कि आजकल बहुत से लोग फास्ट फूड को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बना रहे हैं। पिज्जा, बर्गर, नूडल्स जैसे जंक फूड आजकल न सिर्फ बच्चों बल्कि बड़ों की भी पसंद बन गए हैं। मोमोज भी इन्हीं फास्ट फूड में से एक है, जो देशभर में काफी लोकप्रिय हो गया है.

आजकल यह एक पसंदीदा स्ट्रीट फूड बन गया है, जो आपको देश के लगभग हर हिस्से में मिल जाएगा। सफेद आटे की यह डिश मसालेदार और तीखी चटनी और मेयोनेज़ के साथ परोसी जाती है। हालांकि, स्वाद में लाजवाब यह डिश आपकी सेहत के लिए बेहद हानिकारक है। अगर आप उन लोगों में से हैं जो अक्सर मोमोज को चटपटे के साथ खाते हैं तो आज हम आपको इससे होने वाले कुछ भयानक नुकसानों के बारे में बताएंगे-

हड्डियाँ खोखली कर दी गईं

मोमोज बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल किया जाता है. गेहूं के आटे से प्रोटीन और फाइबर निकल जाते हैं, केवल मृत स्टार्च बचता है। ऐसे में इस प्रोटीन रहित आटे को खाने से शरीर को बहुत नुकसान होता है। दरअसल, इसकी प्रकृति अम्लीय हो जाती है, जिसके कारण यह हड्डियों में कैल्शियम को अवशोषित कर लेता है और हड्डियों को खोखला कर देता है। साथ ही, आटे को पचाना बहुत मुश्किल होता है, जिससे यह आंतों में चिपक सकता है और उन्हें ब्लॉक कर सकता है।

किडनी और अग्न्याशय के लिए खतरा

आमतौर पर बाजार में मिलने वाले मोमोज सफेद और मुलायम होते हैं। इन्हें ऐसा बनाने के लिए इसमें ब्लीच, क्लोरीन गैस, बेंज़ोइल पेरोक्साइड, एज़ो कार्बामाइड मिलाया जाता है। ये सभी रसायन आपकी किडनी और अग्न्याशय को नुकसान पहुंचाते हैं और मधुमेह के खतरे को भी बढ़ाते हैं।

लाल चटनी आंतों के लिए हानिकारक

मोमोज के साथ परोसी जाने वाली मसालेदार लाल चटनी बहुत से लोगों को पसंद होती है, लेकिन इसे बनाने में बहुत अधिक लाल मिर्च और अन्य मसालों का उपयोग किया जाता है, जिससे बवासीर, गैस्ट्राइटिस, पेट और आंतों में रक्तस्राव हो सकता है।

मोटापा भी बढ़ता है

अक्सर मोमो विक्रेता इसके स्वाद और महक को बेहतर बनाने के लिए इसमें मोनोसोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी) नामक रसायन मिलाते हैं। यह रसायन न केवल मोटापा बढ़ाता है, बल्कि मस्तिष्क और तंत्रिका संबंधी समस्याओं, सीने में दर्द, हृदय गति बढ़ने और बीपी में भी भूमिका निभा सकता है।

खराब मांस-सब्जियों का उपयोग

कई लोगों को नॉनवेज मोमोज खाना बहुत पसंद होता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि कुछ जगहों पर नॉनवेज मोमोज बनाने के लिए मरे हुए जानवरों के मांस का इस्तेमाल किया जाता है. इतना ही नहीं, कई बार वेज मोमोज में खराब और गंदी सब्जियां भी डाल दी जाती हैं. ऐसे में इस तरह से बने मोमोज खाने से शरीर कई तरह के संक्रमण का शिकार हो सकता है.