आर्थिक तंगी से हैं परेशान तो मकर राशि के जातक जरूर धारण करें ये रत्न

हिन्दू ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों की शांति के लिए रत्न धारण करना बहुत ही कारगर उपाय है। प्रत्येक राशि के अलग-अलग रत्न होते हैं, जो जातक की राशि को प्रभावित करते हैं। रत्न ज्योतिष के अनुसार मकर राशि के जातक कई प्रकार के रत्न धारण कर सकते हैं और ग्रहों की शांति कर सकते हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर राशि के जातक बहुत ही वफादार, मेहनती और लक्ष्य उन्मुख होते हैं। मकर राशि का स्वामी शनि है और यह व्यक्ति अपने निजी विचारों को दूसरों के साथ साझा नहीं करता है। मेहनत के कारण मकर राशि वालों को मान-सम्मान भी मिलता है। अगर आप भी मकर राशि के हैं और आपकी कुंडली में कोई ग्रह दोष है तो इन रत्नों को धारण करना चाहिए।

मकर राशि के जातकों को धारण करना चाहिए ये रत्न:

मकर राशि के जातकों को गारनेट रत्न धारण करना चाहिए। यह रत्न सबसे शुभ माना जाता है। रत्न ज्योतिष के अनुसार गारनेट धारण करने से आंतरिक शक्ति में वृद्धि होती है। मकर राशि के जातक यदि इस रत्न को धारण करते हैं तो उनमें आत्मविश्वास की वृद्धि होती है। इसके अलावा नकारात्मक ऊर्जा भी दूर होती है।

नीलम रत्न भी देता है लाभ:

मकर राशि के जातक नीलम और गारनेट रत्न धारण कर सकते हैं। इस रत्न को धारण करने से जीवन में सकारात्मक परिवर्तन और भाग्य में परिवर्तन आता है। मकर राशि के जातक फ़िरोज़ा, पुखराज, माणिक्य और गोमेद रत्न भी धारण कर सकते हैं, लेकिन उन्हें किसी जानकार व्यक्ति से सलाह लेनी चाहिए।

अनामिका अंगुली में धारण करें :

मकर राशि वालों को रत्न को सोने और तांबे के धातु के छल्ले में जड़वाना चाहिए। संबंधित रत्न को शुक्ल पक्ष के रविवार के दिन ही धारण करना शुभ होता है। इसके अलावा यह भी ध्यान रखना चाहिए कि रत्न धारण करने से पहले उसे गंगाजल और दूध से शुद्ध करना चाहिए। मकर राशि के जातक को रत्न हमेशा अनामिका अंगुली में धारण करना चाहिए।

Check Also

काले धागे के फायदे :पैर में काला धागा बांधने से दूर होता है राहु-केतु का गुस्सा? जानिए ज्योतिष के इस रहस्य को

काला धागा लाभ:  हमारी खुशियों पर किसी का ध्यान ना जाए इसके लिए हम तरह-तरह के …