शनिदेव: शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए महत्वपूर्ण है यह शनिवार, शनिदेव के कोप से बचने के लिए करें यह उपाय

शनि देव : शनि को शांत और प्रसन्न मुद्रा में रहना चाहिए। अगर शनि नाराज हो जाए तो व्यक्ति के जीवन में मुश्किलें और परेशानियां पैदा कर देता है। शनिदेव की नाराजगी रातों की नींद हराम कर देती है। इसलिए शनिदेव की कृपा का विशेष महत्व बताया गया है।

लोग शनि से क्यों डरते हैं?

ज्योतिष शास्त्र में शनि को न्याय का कारक माना गया है। ज्योतिष ग्रंथों और पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शनि कलियुग के न्यायाधीश हैं। यानी उन्हें जज माना जाता है। शनिदेव मनुष्य के कर्मों का फल देते हैं। जब कोई व्यक्ति गलत करता है तो शनि उसे कड़ी सजा देते हैं। इसलिए शनि दशा, महादशा, अंतर्दशा, सदासाती और शनि दशा कष्टकारी मानी जाती है। क्योंकि इस स्थिति में शनि मनुष्य के गलत कर्मों का फल देते हैं। इसलिए शनि के नाम से ही लोग डर जाते हैं

क्या शनि भी देता है शुभ फल?

जी हां, शनि अशुभ फल ही देता है, ऐसा नहीं है। शनि शुभ होने पर अत्यंत शुभ फल देता है। शनि शुभ हो तो जातक को उच्च पद, धन और सम्मान की प्राप्ति होती है। शुभ होने पर शनि महाराज वाहन, मकान आदि का सुख भी देते हैं और विदेश यात्रा भी कराते हैं। इसलिए इस बात को दिमाग से निकाल देना चाहिए कि अकेला शनि ही अशुभ फल देता है।

शनिदेव को कैसे प्रसन्न रखें?

शनि को प्रसन्न रखने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। शनि नियम और अनुशासन पर जोर देने वाला ग्रह है। जो लोग नियमों का पालन नहीं करते हैं, शनि उन्हें माफ नहीं करते हैं और उनकी स्थिति आदि में परेशानी देते हैं। जिन जातकों की कुंडली में शनि अशुभ है या शनि की वजह से परेशानी हो रही है उनके लिए पौष मास का पहला शनिवार बेहद शुभ साबित हो रहा है। आइए जानते हैं इस दिन शनिदेव की कृपा पाने के लिए क्या करें-

शनिवार को कम्बल दान करें। शास्त्रों में चर्चित शनि के उपहारों में एक काला कंबल भी है। माना जाता है कि काला कंबल दान करने से शनिदेव अति शीघ्र प्रसन्न होते हैं। इस दिन जरूरतमंद लोगों को कंबल दान करना चाहिए। यह जीवन में बाधाओं को दूर करता है।

शनि देते हैं अशुभ फल, कैसे जानें?

  • जीवन में कोई नकारात्मक घटना शनि के अशुभ फल की ओर इशारा करती है।
  • प्रेम संबंधों में रुकावटें आती हैं
  • प्रेम संबंधों में अक्सर ब्रेकअप का सामना करना पड़ता है।
  • धन की कमी। कर्ज चढ़ने लगते हैं।
  • महत्वपूर्ण कार्यों में रुकावटें आएंगी।
  • मानसिक तनाव बनाए रखें।
  • ऑफिस में पिता या बॉस से संबंध अच्छे नहीं रहते हैं।
  • व्यापार में मेहनत के बाद भी मनचाही सफलता नहीं मिलती है।
  • प्रतिद्वंद्वी या शत्रु आपको परेशान करते रहते हैं।
  • शिक्षा में बाधा आती है।
  • घेर लेती हैं गंभीर बीमारियां
  • अनजान का डर।
  • आलस्य के कारण काम अधूरे रह जाते हैं।

महत्वपूर्ण बातें याद रखें

यदि आप शनि को प्रसन्न रखना चाहते हैं तो आपको दूसरों की निन्दा नहीं करनी चाहिए। ये बातें भी याद रखें-

  • धन का उपयोग दूसरों को हानि पहुँचाने के लिए न करें।
  • मेहनत करने वालों को कभी परेशान न करें।
  • अपने धन और पद का दुरुपयोग न करें।
  • प्रकृति को कभी नुकसान न पहुंचाएं।
  • हमेशा जरूरतमंदों की मदद करें।
  • गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों की सेवा करें।
  • कल्याण के कार्यों में रुचि लेनी चाहिए।

 

Check Also

कम कमाई से भी अमीर बनते हैं इन तीन राशियों के लोग

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी जातक के राशिफल और राशिफल के आधार पर उसके …