हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी से भीषण शीतलहर, माइनस में नौ शहरों का पारा

शिमला, 03 फरवरी (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में बर्फ़बारी से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाके भीषण शीतलहर की चपेट में हैं और अधिकांश स्थान में तापमान जमाव बिंदु से नीचे पहुंच गया है। शनिवार को राज्य के नौ शहरों का पारा माइनस में दर्ज किया गया।

राज्य में मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। राजधानी शिमला सहित अन्य हिस्सों में आसमान घनघोर बादलों से घिरा है, वहीं उच्च पर्वत श्रृंखलाओं पर रुक-रुक कर बर्फ़बारी का दौर फिर शुरू हो गया है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर, कुल्लू और चम्बा जिला की ऊंची चोटयों पर बर्फ गिर रही है। ऐसे में ठंड से फिलहाल कोई राहत मिलने के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग ने आज व कल राज्य में बारिश और बर्फ़बारी का येलो अलर्ट जारी किया है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की रिपोर्ट के मुताबिक लाहौल-स्पीति जिला का कुकुमसेरी राज्य का सबसे ठंडा स्थल रहा, जहां शनिवार को न्यूनतम तापमान-8.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लाहौल-स्पीति के ही समधो में -6.1 डिग्री, किन्नौर जिला के कल्पा में -5.6 डिग्री व रिकांगपिओ में -2.6 डिग्री, शिमला जिला के नारकंडा में -3.7 डिग्री, कुफ़री में -1.4 डिग्री, कुल्लू जिला के मनाली में -1.8 डिग्री, चम्बा जिला के -3.1 व भरमौर में -1.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ है।

इसके अलावा शिमला में 1.2 डिग्री, सुंदरनगर में 3 डिग्री, भुंतर में 2.6 डिग्री, धर्मशाला में 3.2 डिग्री, ऊना में 4.8, नाहन में 6.3, पालमपुर में 3.5, सोलन में 3.2, कांगड़ा में 6, मंडी में 3.4, बिलासपुर में 5.9, हमीपुर में 4.8, जुब्बड़हट्टी में 4, सियोबाग में 1.5, बरठीं में 4.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि राज्य में पश्चिमी विक्षोभ फिर सक्रिय हो रहा है और इसका असर तीन दिन तक देखने को मिलेगा। आज और कल फरवरी को प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में बारिश-बर्फबारी की संभावना है। आज यानी तीन फरवरी को मैदानी क्षेत्रों में बिजली कड़कने के साथ बारिश-ओलावृष्टि का येलो अलर्ट जारी किया गया है। चार फरवरी को पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी का येलो अलर्ट रहेगा। पांच फरवरी को भी बारिश-बर्फ़बारी हो सकती है। जबकि छह फरवरी से मौसम खुलने का पूर्वानुमान है।

बर्फ़बारी से 4 नेशनल हाइवे और 504 सड़कें बंद, 674 ट्रांसफॉर्मर और 44 पेयजल स्कीमें भी ठप

हिमाचल प्रदेश में हुए भारी हिमपात के दो दिन बाद भी सामान्य जनजीवन पटरी पर नहीं उतरा है और कई स्थानों पर परिवहन पेयजल और बिजली आपूर्ति प्रभावित है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार की सुबह तक राज्य में चार नेशनल हाईवे और 504 सड़क अवरुद्ध हैं। इसके अलावा 674 ट्रांसफार्मर और 44 पेयजल स्कीमें भी ठप है। शिमला जिले में 161 और लाहौल स्पीति जिले में 153 सड़कें बर्फ़बारी से बंद हैं। इसी तरह कुल्लू जिला में 76, चंबा जिला में 62 और मंडी जिला में 40 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप हैं। चंबा जिला में 323 कुल्लू जिला में 150, मंडी में 121, लाहौल-स्पीति में 36 और शिमला में 32 ट्रांसफार्मरों के खराब होने से बिजली गुल है। लाहौल स्पीति जिला के उदयपुर मंडल में 11 और मंडी जिला के थुनाग उमण्डल में 33 पेयजल स्कीमें भी ठप हैं।