5 दिनों में करीब 3500 अंक फिसला Sensex, क्या और टूटेगा बाजार? जानिए निवेशकों को क्या करना चाहिए

सप्ताह के पहले दिन शेयर बाजार (Share Market Updates) में भारी गिरावट देखी जा रही है. दोपहर के 12.50 बजे सेंसेक्स में 1225 अंकों की भारी गिरावट देखी जा रही थी. इस समय सेंसेक्स (Sensex today) 2 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ 57811 के स्तर पर ट्रेड कर रहा था, वहीं निफ्टी (Nifty today) 387 अंकों की गिरावट (2.20 फीसदी) के साथ 17229 के स्तर पर ट्रेड कर रहा था. बाजार में जारी गिरावट को लेकर रेलिगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट अजीत मिश्रा का कहना है कि फेडरल रिजर्व (US federal reserves) इंट्रेस्ट रेट बढ़ा सकता है जिसके कारण सेंटिमेंट कमजोर हुआ है.

मंगलवार से अमेरिकी फेडरल रिजर्व की दो दिवसीय अहम बैठक शुरू होने जा रही है. माना जा रहा है कि फेडरल रिजर्व महंगाई (Inflation) पर कंट्रोल करने के लिए इंट्रेस्ट रेट में बढ़ोतरी कर सकता है. यही वजह है कि बाजार में भारी बिकवाली है. वैसे फेडरल रिजर्व की बैठक में क्या फैसला लिया गया है, इसका पता 26 जनवरी को चलेगा. 27 जनवरी को मंथली डेरिवेटिव्स का निपटान होगा. इसके कारण भी बिकवाली का दबाव बना हुआ है.

निवेशकों को 20 लाख करोड़ का नुकसान

पिछले पांच कारोबारी सत्र में सेंसेक्स में 3500 अंकों से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है. इस समय मिडकैप, स्मॉलकैप, ऑटो, आईटी, मीडिया, रियल्टी और मेटल स्टॉक में सबसे ज्यादा गिरावट देखी जा रही है. आज की गिरावट के बाद BSE लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप घटकर 261 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है. पिछले पांच कारोबारी सत्रों में निवेशकों की संपत्ति में करीब 20 लाख करोड़ रुपए की गिरावट आई है.

बुधवार को बाजार बंद रहेगा, इसलिए प्रॉफिट बुकिंग पर बढ़ा जोर

26 जनवरी को फेडरल रिजर्व की बैठक में लिए गए फैसलों की घोषणा की जाएगी, वहीं गणतंत्र दिवस के कारण भारतीय बाजार बंद रहेंगे. लंबे समय से उम्मीद की जा रही है कि फेडरल रिजर्व इंट्रेस्ट रेट बढ़ा सकता है. ऐसे में निवेशक खुद को किसी भी फैसले से सुरक्षित रखने के लिए प्रॉफिट बुकिंग कर रहे हैं.

टेक कंपनियों में भारी करेक्शन

साल 2021 में कई टेक कंपनियां शेयर बजार में लिस्ट हुईं. IPO क्रेज में ये कंपनियां ओवर वैल्यु पर लिस्ट हुई थीं. अब इन स्टॉक्स में करेक्शन आ रहा है. इसके कारण IPO निवेशकों के सेटिंमेंट को काफी नुकसान पहुंचा है. ग्लोबल मार्केट में भी टेक कंपनियों पर दबाव बना हुआ है. Paytm,CarTrade, PB Fintech, Fino Payments Bank जैसी कंपनियों के शेयर में लिस्टिंग के मुकाबले 50 फीसदी तक का करेक्शन हुआ है. Zomato, Nykaa के शेयरों में भी भारी गिरावट आई है.

कोरोना के मामले 3 लाख पार

कोरोना के मामले घटने के नाम नहीं ले रहा है. रोजाना आधार पर 3 लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. कई राज्यों ने कोरोना के कारण आवाजाही पर पाबंदियों को मजबूत किया है. इसके कारण भी अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है. बाजार के जानकारों का कहना है कि नई पाबंदियों से आर्थिक सुधार को झटका पहुंचा है.

Check Also

इलेक्ट्रिक या सीएनजी कार खरीदने के लिए कोई पंजीकरण शुल्क नहीं लिया जाएगा

मुंबई: इलेक्ट्रिक और सीएनजी वाहन: इलेक्ट्रिक या सीएनजी कार खरीदने वालों के लिए बड़ी खबर. पश्चिम बंगाल …