सेंसेक्स 953 अंक नीचे 57145 पर बंद हुआ, ये हैं कारण

6mN9K3LvhZjJ7DD6sGWPs0z8j8SQrRcZHi3KXZQH

भारतीय शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला जारी है। वैश्विक बाजारों से आने वाले संकेतों की वजह से निवेशकों की बिकवाली जारी है। आज घरेलू बाजार में लगातार मुनाफावसूली देखने को मिली। वह दिन भर हावी रहा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर सेंसेक्स 953 अंक नीचे 57145 पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में निफ्टी 297 अंक नीचे 17029 पर बंद हुआ। तो बाजार में गिरावट के कारण निम्नलिखित हैं। 

इस वजह से बाजार ठप हो गया

अमेरिकी बाजारों से नरमी के संकेत

डॉव इंडस्ट्रियल्स को देखकर लगता है कि बाजार मंदी के क्षेत्र में प्रवेश कर गया है। पूरे यूरोप में आर्थिक गतिविधि धीमी हो गई है। अमेरिका में सितंबर में लगातार तीसरे महीने आर्थिक गतिविधियों में गिरावट आई। इससे अमेरिकी शेयर बाजारों में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। शुक्रवार को डाउ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज 2.35 फीसदी गिरा। यह कारोबार के दौरान जून के निचले स्तर से नीचे आने वाला पहला अमेरिकी सूचकांक बन गया। एसएंडपी 500 2.5 फीसदी गिर गया, जबकि नैस्डैक कंपोजिट 2.55 फीसदी गिर गया।

डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर

26 सितंबर को डॉलर के मुकाबले रुपया नए निचले स्तर पर पहुंच गया। यह अमेरिका और स्थानीय शेयर बाजारों में गिरावट से प्रभावित था। यह 81.55 के स्तर पर खुला। शुक्रवार को यह 80.99 पर बंद हुआ था। पिछले 9 कारोबारी सत्रों में से 8 में इसमें गिरावट आई है। इस दौरान इसमें करीब 2.28 फीसदी की गिरावट आई है।

आरबीआई ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है

आरबीआई इस हफ्ते शुक्रवार को ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है। कुछ जानकारों का मानना ​​है कि आरबीआई ब्याज दरों में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकता है। हालांकि कुछ का यह भी मानना ​​है कि आरबीआई इस बार रेपो रेट में 0.35 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकता है। आरबीआई ब्याज दरें बढ़ाने में दुनिया के अन्य केंद्रीय बैंकों से पिछड़ गया है। यहां मुद्रास्फीति 2-6 प्रतिशत के अपने लक्ष्य सीमा से ऊपर है।

अमेरिकी ब्याज दरों में वृद्धि जारी रहने की उम्मीद

यूएस सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी जारी रखने का संकेत दिया है। वास्तव में, जब तक अमेरिका में मुद्रास्फीति नियंत्रण में नहीं है, तब तक फेडरल रिजर्व की मौद्रिक नीति सख्त रहेगी। अमेरिका में बढ़ती दिलचस्पी का असर पूरी दुनिया पर पड़ रहा है।

Check Also

डाकघर योजना : मैरिड सिल्वर; 50 हजार से ज्यादा सीधे पोस्ट ऑफिस के खाते में आएंगे

पोस्ट ऑफिस मंथली सेविंग स्कीम:  आमतौर पर शादीशुदा जोड़ों के सामने जो एक बड़ा सवाल होता …