SECL खदान में हादसा:​​​​​​​शावेल के बूम में फंसा बोल्डर सिर पर गिरने से केबलमैन की मौत, बकेट में रखने के दौरान फिसला

 

छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित SECL की खदान में बोल्डर गिरने से केबल मैन की मौत हो गई। - Dainik Bhaskar

छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित SECL की खदान में बोल्डर गिरने से केबल मैन की मौत हो गई।

  • दीपका स्थित खदान में हुआ हादसा, 42 क्यूबिक शावेल 229 में पिट बनाने का चल रहा था काम
  • इसी दौरान 20 मीटर ऊंचाई से बड़ा बोल्डर आ गिरा, अस्पताल में डॉक्टरों ने मृत घोषित किया

छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित SECL की खदान में गुरुवार को शावेल के बूम में फंसा बोल्डर गिरने से केबलमैन की मौत हो गई। हादसा पिट बनाने के दौरान बोल्डर को उठाकर बकेट में रखते समय हुआ। साथी कर्मचारी उन्हें विभागीय अस्पताल NCH लेकर पहुंचे, लेकिन वहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। हादसे की जानकारी मिलते ही उच्चाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। मामला दीपका थाना क्षेत्र का है।

जानकरी के मुताबिक, दीपका स्थित खदान के 42 क्यूबिक (P&H)शावेल 229 में पिट बनाने का काम चल हरा था। वहां केबलमैन गजपाल सिंह की ड्यूटी लगी थी। बताया जा रहा है कि आपॅरेटर नरेश चंद्र ढीमर की ड्यूटी भी शावेल में लगी थी। वह शावेल के बकेट को पीछे घुमाकर रख रहा था। इसी दौरान उसमें फंसा बोल्डर करीब 20 फीट की ऊंचाई से अचानक नीचे खड़े गजपाल सिंह पर आ गिरा और उनका सिर फट गया।

डोजर से पिट बनवाने का चल रहा था काम
हादसे के बाद सहकर्मी साथियों ने उन्हें गेवरा स्थित विभागीय अस्पताल पहुंचाया, लेकिन बचाया नहीं जा सका। ड्यूटी के दौरान मोके पर सीनियर ओवरमैन सरोज साहू डोजर से पिट बनाने का काम करवा रहे थे। उन्होंने उच्च अधिकारियों के घटना की सूचना दिया जहां दीपका महाप्रबंधक खनन शशांक कुमार देवांगन, दीपका एरिया महाप्रबंधक रंजन प्रसाद साह, सुरक्षा अधिकारी अनूप मधोरिया के साथ घटनास्थल पहुंचे।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

फलोदी जेल ब्रेक, सबकुछ पहले से तय था:भागने से पहले तय हुआ था कि कोई घर नहीं जाएगा; 16 बंदियों में जो 1 पकड़ा गया उसे घर की याद ने जेल पहुंचाया

  गिरफ्तार बंदी मोहनराम फलौदी जेल ब्रेक करके भागने की योजना कोई एक-दो दिन की …