जुनिपर होटल्स समेत चार कंपनियों के आईपीओ प्रस्ताव को सेबी की मंजूरी

नई दिल्ली, 05 फरवरी (हि.स.)। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने जुनिपर होटल्स और रियल एस्टेट कंपनी आर्केड डेवलपर्स समेत चार कंपनियों को अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने की मंजूरी दे दी है।

बाजार नियामक सेबी ने सोमवार को दी जानकारी में बताया कि हयात ब्रांड के तहत होटल शृंखला चलाने वाली जुनिपर होटल्स, रियल एस्टेट कंपनी आर्केड डेवलपर्स, लॉजिस्टिक फर्म सीजे डार्कल और लॉजिस्टिक्स एवं कृषि उपकरण विनिर्माता इंडो फार्म इक्विपमेंट को अपना आईपीओ लाने की मंजूरी दी गई है। इन फर्मों ने सितंबर-अक्टूबर, 2023 के बीच बाजार नियामक के समक्ष अपना आईपीओ दस्तावेज जमा किए थे।

हालांकि, बाजार नियामक ने क्रोनॉक्स लैब साइंसेज और श्री तिरुपति बालाजी एग्रो ट्रेडिंग कंपनी के आईपीओ प्रस्तावों को लौटा दिया है। सेबी ने इन दस्तावेजों को लौटाने की कोई वजह नहीं बताई है। आईपीओ दस्तावेजों के मसौदे के मुताबिक जुनिपर होटल्स के प्रस्तावित आईपीओ में 1,800 करोड़ रुपये मूल्य के नए शेयरों की बिक्री पेशकश की जाएगी।

सेबी के मुताबिक आर्केड डेवलपर्स के आईपीओ में 430 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयरों की पेशकश होगी। इसी तरह सीजे डार्कल लॉजिस्टिक्स के निर्गम में 340 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयरों के साथ प्रवर्तकों के पास मौजूद 54.31 लाख शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाई जाएगी जबकि इंडो फार्म इक्विपमेंट के आईपीओ में 1.05 करोड़ नए इक्विटी शेयर और प्रवर्तक के पास मौजूद 35 लाख इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश शामिल है।