SBI ने 40 करोड़ ग्राहकों को किया अलर्ट! न करें इस ऐप को डाउनलोड, वरना अकाउंट हो जाएगा खाली !

नई दिल्ली: स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआईने अपने करोड़ों ग्राहकों को इंस्‍टेंट लोन एप्‍स के प्रति आगाह किया हैएसबीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर ग्राहकों को अलर्ट किया है और कहा है कि वह किसी भी ऐसे लिंक पर क्लिक करें जो अवांछित हों और साथ ही ऐसी एप्‍स से भी दूर रहें जो इंस्‍टेंट लोन्‍स मुहैया कराने के दावे करती होंएसबीआई की तरफ से स्‍पष्‍ट कहा गया है कि अगर वो ऐसे लिंक्‍स पर क्लिक करते हैं तो फिर उनके अकाउंट को खाली होते देर नहीं लगेगी.

मिनट में 2 लाख तक के लोन का वादा

एसबीआई के मुताबिक ग्राहकों को मैसेज भेजे जा रहे हैं जिसमें कहा जा रहा है कि उन्‍हें सिर्फ पांच मिनट में दो लाख रुपए तक का लोन मिल सकता हैउन्‍हें बस इस लिंक पर क्लिक करना होगाएसबीआई ने अपने ग्राहकों को कहा है कि वो ऐसे लिंक्‍स पर क्लिक न करें नहीं तो उनके बैंक अकाउंट को भारी चपत लग सकती हैएसबीआई ने ग्राहकों को कहा है कि वो अपने बारे में कोई भी जानकारी ऐसे किसी लिंक पर न दें जो खुद को एसबीआई या फिर दूसरे बैंक के तौर पर प्रस्‍तुत कर रहा हो.

हद से ज्‍यादा इंट्रेस्‍ट

एसबीआई ने कहा है कि ऐसी कोई भी इंस्‍टेंट लोन एप जो आपको बिना किसी पेपरवर्क के बस दो मिनट में लोन मुहैया कराने का दावा करेउससे बचेंअक्‍सर लोग इस तरह से लोन तो ले लेते हैं लेकिन फिर उन्‍हें भारी ब्‍याज दर अदा करनी पड़ जाती हैलोगों को इसके बाद बहुत से पैसा कर्ज में लेना पड़ता है ताकि वो कर्ज चुका सकेंकभीकभी लोगों के पास फिरौती के लिए भी कॉल आने लगते हैं.बहुत से लोगों की जिंदगियां ही इसकी वजह से खत्‍म हो गई हैंएसबीआई ने ग्राहकों से स्‍पष्‍ट कहा है कि वो बैंक का दावा करने वाली ऐसी किसी भी कॉल पर कोई डिटेल न शेयर करें जिस पर उनसे बैंक अकाउंट या फिर ओटीपी जैसी जानकारी मांगी गई है.

एसबीआई की गाइडलाइंस

एसबीआई ने जो सेफ्टी टिप्‍स शेयर किए हैं वो कुछ इस तरह से हैं

जो ऑफर है उसके लिए नियम और शर्तों को चेक करें.
किसी भी संदिग्‍ध लिंक को क्लिक करने से बचेंकोई भी एप डाउनलोड करने से पहले उसकी विश्‍वसनीयता को चेक करें.
अपनी सभी वित्‍तीय जरूरतों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

https://bank.sbi

RBI ने भी दी चेतावनी

बैंकनॉन बैकिेंग वित्‍तीय कंपनियां जो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआईके साथ रजिस्‍टर्ड हैंउनकी तरफ से कानूनी तौर पर लोन की पेशकश की जा सकती हैइसके अलावा राज्‍य सरकारों के साथ रजिस्‍टर्ड ईकाईयां भी कर्ज की पेशकश कर सकती हैं.

पिछले माह आरबीआई ने व्‍यक्तियों और छोटे उद्योगों को वॉर्निंग दी थीएसबीआई ने कहा था कि किसी भी तरह से अनाधिकृत डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर आकर धोखाधड़ी का शिकार होने से बचें.आरबीआई के मुताबिक इन प्‍लेटफॉर्म पर जिस कर्ज की पेशकश की जाती हैउसकी ज्‍यादा ब्‍याज दर बहुत ज्‍यादार होती हैकई प्रकार के चार्ज छिपे हुए होते हैंरिकवरी करने के तरीके ऐसे होते हैं जो स्‍वीकार नहीं हैं और साथ ही यह उधार लेने वाले व्‍यक्तियों का डाटा मोबाइल फोन पर हासिल करके समझौतों का गलत प्रयोग करते हैं.

Check Also

बीजेपी के महिला आरक्षण के चलते पार्टी में शामिल होने का मिला मौका: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

केंद्रीय वित्त मंत्री (Union Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को कहा कि …