शनिवर उपाय: अशुभ ग्रहों के प्रभाव से राहत पाने के लिए शनिवार के दिन करें ये अमोघ उपाय

शनिवार उपाय: सनातन धर्म में शनिवार का दिन शनिवार भगवान को समर्पित माना जाता है। शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा करने और उनके नाम का जाप करने से भक्तों के जीवन के कष्ट भी दूर होते हैं। शनिवार के दिन विशेषकर सूर्यास्त के बाद शनिदेव की पूजा करना बहुत शुभ माना जाता है। शनिदेव को न्याय और कर्म फल का दाता कहा जाता है।

शनिवार की रात को पिपला के पेड़ के पास सरसों के तेल का दीपक जलाना भी बहुत शुभ माना जाता है। ऐसा आठ शनिवार तक करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और आपके जीवन से अशुभ ग्रहों का प्रभाव भी दूर हो जाता है। इस उपाय को करने से शनि दोष भी दूर हो जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिवार के दिन शनिदेव के 108 नामों का जाप करना भी लाभकारी होता है।

शनाइश्वार
सर्वभस्तात्यतन
शरणन्या
वरन्या सर्वेश
सौम्या सर्वनांक सर्लोकविहरिन सुखासानोपविस्था सुंदर :   ठोस  :  ठोस  :   ठोस  :  भारी  :  भारी   यद वीर  वीरोगभाया  विपतपरम्परेश  :  विश्ववंद्या   :  ग्रिनहावा   :  _   _   _   _   _  _  _  _  _  _  _   गूढ़:   कूर्मांग  :  कुरुपिण   :  कृतसित: गुणाढ्य  :   गोचर: अविद्यामुलनाश  विद्याविद्यास्वरूपिन  : आयुष्यकरण  : आपदुद्धार्थ: विष्णुभक्त   : वशिन्  :   विधिगमवेदिन:   विधिस्तुत्य  : वन्द्या  : विरुपाक्ष: वरिष्ठ  गरिष्ठ: वज्रांगकुशधर  वरदभयहस्ता:   वामन  ज्येष्ठपत्निसमेत  : श्रेष्ठ: मितभाशिन   :  कष्टोधनश्करत्र  :  पुष्टि  स्तुत्य  स्तोत्रगम्य  : भक्तिवास्य:  भानु:   भानुपुत्र  भव्य:  पवन  धनुर्मंडलसंस्था  धनदा  धनुष्मत   तनुप्रकाशदेह  : तमस: अशेषजनवन्द्य: विष्रेफलदायिन   वशीकरण्जनेश  :   पशुनानपति   :   खेचर  घनिलाम्बर कथिन्यामानस आर्यगणस्तुत्य  नीलछत्र  :  निर्गुण: गुणात्मन   निन्द्य  वन्दनीया धीर   : दिव्यदेह  दीनर्तिहरण  दैन्य  नष्कराय  : आर्यजंगन्या क्रूर  क्रूरता  कामक्रो धाकार कलत्रपुत्रस्त्रुत्वकरण परिपोषितभक्त :  परभितिहर:   भक्तसंघमनोतभिष्टफलद  निरामय शनि.