आर्यभट्ट ऑडिटोरियम के किराए में वृद्धि पर संजय सेठ ने कुलपति को लिखा पत्र, जताई नाराजगी

रांची, 06 दिसम्बर (हि.स.)। रांची के मोरहाबादी स्थित आर्यभट्ट ऑडिटोरियम के किराए में हुई बेतहाशा वृद्धि पर सांसद संजय सेठ ने रांची विश्वविद्यालय के कुलपति को पत्र लिखा है। कुलपति को लिखे पत्र में सांसद ने नाराजगी जताई है और इसके व्यवसायिक उपयोग नहीं करने की सलाह दी है।

सांसद ने कहा है कि मोरहाबादी में रांची विश्वविद्यालय का ऑडिटोरियम आर्यभट्ट सभागार स्थित है। इस सभागार में शैक्षणिक और सामाजिक गतिविधियों से जुड़े कार्य होते हैं। विद्यार्थियों और कलाकारों के द्वारा भी इस सभागार का उपयोग किया जाता है। रांची के लोगों के लिए यह सुलभ और उनके बजट में आने वाला सभागार है। इस सभागार का मूल उद्देश्य भी सामाजिक, सांस्कृतिक और शैक्षणिक गतिविधियों को बढ़ावा देना रहा है।

सांसद ने कहा कि पूर्व में इसका शुल्क 55 हजार रुपये निर्धारित था, जिसे बढ़ाकर अब 2 लाख 21 हजार कर दिया गया है, जो किसी भी दृष्टिकोण से तर्कसंगत नहीं है। ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे इस सभागार का व्यवसायिक रूप से उपयोग किया जाना है। रांची के ऐसे किसी भी सभागार और व्यावसायिक संस्था के भी हॉल का किराया इतना नहीं है, जितना इस सभागार का किया गया है।

उन्होंने पत्र में लिखा है कि मेरा ऐसा मानना है कि यह किसी भी कीमत पर न्याय पूर्ण नहीं है। शुल्क में इस तरह की वृद्धि किए जाने से इसका सीधा असर रांची की शैक्षणिक, सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियों पर भी पड़ेगा। उनके आयोजनों में समस्या होगी। सांसद ने सुझाव देते हुए कहा है कि शुल्क में कटौती करें ताकि यह सर्वजन के लिए उपलब्ध हो सके। इस उद्देश्य इस आर्यभट्ट सभागार का निर्माण किया गया है, वह उद्देश्य पूर्ण हो सके।

Check Also

अस्पताल में आग लगने से डॉक्टर दंपती समेत 6 लोगों की मौत; खुद को बचाने के लिए बाथटब में बैठ गया डॉक्टर लेकिन…

झारखंड के धनबाद स्थित एक निजी अस्पताल में शुक्रवार की रात एक बजे आग लग …