Sagar Rana murder case: पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में एक और शख्‍स गिरफ्तार, दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने की कार्रवाई

दिल्‍ली के छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर राणा (wrestler Sagar Rana) की हत्या के मामले में दिल्‍ली क्राइम ब्रांच ने एक और शख्‍स को गिरफ्तार किया है.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा का कहना है कि उसने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस चर्चित मामला में जांच कर रही है.

दो बार का ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार (Sushil Kumar) पर सुशील कुमार पर हत्या, गैर-इरादतन हत्या और अपहरण के आरोप हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर के पहलवान सुशील को 23 मई को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद अदालत ने सुशील कुमार को छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था जिसे बाद में चार दिन और बढ़ा दिया गया था. इन्‍हींं आरोपों के चलते सुशील कुमार फिलहाल सुशील कुमार जेल में है.

सुशील कुमार और उसके साथियों ने संपत्ति विवाद को लेकर चार-पांच मई की मध्यरात्रि पहलवान सागर धनखड़ और उसके दो मित्रों के साथ दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में कथित तौर पर मारपीट की थी। सागर ने बाद में दम तोड़ दिया था.

आखिर क्यों इंटरनेशनल पहलवान से कातिल बन गया सुशील कुमार

4 मई की रात ओलंपियन सुशील कुमार ने किस तरह सागर पहलवान की हत्या की? आखिर क्यों वह पहलवान से कातिल बन गया? 4 मई की रात की पूरी कहानी बयान की उस रात सागर पहलवान के साथ मौजूद सोनू महल ने, जो इस हत्याकांड का अहम चश्मदीद गवाह है.

सोनू महल को सागर पहलवान के साथ किडनैप कर सुशील और उसके गुर्गे लेकर छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे थे ,जहां सुशील कुमार और उसके पहलवान गुर्गों ने सागर पहलवान,सोनू महल और भगत सिंह सहित दो और लोगों की जबरदस्त पिटाई की थी. जिसमें सागर पहलवान की मौत हो गई थी.

सोनू महल का कहना है कि बिना वजह बताएं करीब डेढ़ घंटे तक उनकी पिटाई की गई. सुशील पहलवान शराब के नशे में था और उसने सभी के कनपटी पर पिस्टल लगाकर जान से मारने की धमकी भी दी. साथ ही लाठी और रोड से सब की बेतहाशा पिटाई की.

सोनू महल का कहना है कि उन्हें पिटाई की असली वजह मालूम नहीं है लेकिन सुशील पहलवान सागर से गुस्सा था ,क्योंकि सागर पहलवान के कहने पर करीब 30-40 पहलवान वीरेंद्र पहलवान के अखाड़े में चले गए थे जो पहले छत्रसाल स्टेडियम में रहते थे. बस इसी बात से सुशील पहलवान नाराज था और उसके निशाने पर असलियत में सागर धनखेड़ी था. सोनू महल और भगत सिंह को बिना वजह मारा गया.

Check Also

मदुराई: शराब दुकानें खुलने पर खुशी मिली इतनी कि बोतलों की कर डाली पूजा

तमिलनाडु में लंबे लॉकडाउन के बाद शराब दुकानें फिर से खोलने का आदेश दिया गया …