आरएसएस के बाल शिविर में स्वयंसेवकों में भरा गया देशप्रेम, बताया बलिदानियों का इतिहास

वाराणसी, 10 फरवरी (हि.स.)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के काशी मध्य भाग के बाल शिविर में शनिवार को बाल स्वयंसेवकों को पन्ना धाय, सुभाष चंद्र बोस, गुरु गोविंद सिंह के पुत्रों के बलिदान को बताया गया। बाल स्वयंसेवकों में काशी प्रांत प्रचारक रमेश ने देशभक्ति की भावना भरते हुए देश प्रेम के विषय में बाल स्वयं सेवकों को बताया।

महमूरगंज स्थित निवेदिता शिक्षा सदन में आयोजित बाल शिविर का उद्घाटन प्रांत प्रचारक रमेश ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच दीप प्रज्वलित कर किया। शिविर में आठ वर्ष की आयु से लेकर पंद्रह वर्ष तक के किशोरवय बालकों से प्रांत प्रचारक ने संवाद कर उन्हें प्रेरित किया कि सुबह उठकर विद्यालय जाने के पहले अपने माता-पिता का पैर अवश्य स्पर्श करें। संवाद में खेलों को लेकर भी चर्चा हुई। शिविर में भाग संघचालक डॉ हेमन्त, सह विभाग कार्यवाह डॉ आशीष, भाग कार्यवाह सुरेन्द्र, प्रचारक बृजेश, भाग विद्यार्थी कार्यवाह बृज श्याम, सह भाग विद्यार्थी कार्यवाह अभय, भाग विद्यार्थी शिक्षण प्रमुख विद्या सागर आदि ने भी भागीदारी की। इसी तरह काशी उत्तर भाग में पांडेयपुर स्थित तपोवन आश्रम में बाल शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 250 बाल स्वयंसेवकों ने भागीदारी की। शिविर में प्रान्त प्रचारक प्रमुख रामचंद्र, भाग कार्यवाह जितेंद्र, भाग प्रचारक मोहित आदि की भी उपस्थिति रही।