अग्निपथ : हाइवे पर पुलिस मुस्तैद, स्टेशनों पर आरपीएफ व जीआरपी की निगरानी

कानपुर, 20 जून (हि.स.)। सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना का ऐलान किया था, जिसके विरोध में लगातार युवा सड़कों पर उतर कर तोड़फोड़ और आगजनी कर विरोध कर रहे हैं। युवाओं के विरोध को देखते हुए सोमवार को कानपुर के हाइवे क्षेत्रों में जहां पुलिस व आरएएफ अलर्ट है और गश्त कर रही है, वहीं रेलवे स्टेशनों पर भी आरपीएफ व जीआरपी कर्मी निगरानी बनाए हुए हैं।

दरअसल, अग्निपथ योजना को लेकर बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में हिंसक प्रदर्शन जारी है। इन सबके बीच अब कई संगठनों ने आज बंद का ऐलान किया था। बंदी के एलान को देखते हुए कानपुर रेलवे स्टेशन पर भी आरपीएफ व जीआरपी के साथ यूपी पुलिस के जवान मुस्तैद दिखाई दिए। साथ ही स्टेशन परिसर में चप्पे-चप्पे की तलाशी भी ली गई। आरपीएफ इंस्पेक्टर बी0 पी0 सिंह ने बताया कि स्टेशन परिसरों में कर्मियों द्वारा प्रदर्शन करने वालों की निगरानी की जा रही है। सीसीटीवी से भी नजर रखी जा रही हैं। इस स्टेशन आने जाने वाले संदिग्धों से पूछताछ की गई।

उधर, कानपुर कमिश्नरेट के साथ आउटर पुलिस भी हाइवे पर सोमवार सुबह से मुस्तैद है। चकेरी इलाके में इंस्पेक्टर शैलेन्द्र सिंह भारी पुलिस बल के साथ युवाओं पर नजर बनाए हुए हैं। वहीं सचेंडी, पनकी, सजेती घाटमपुर, बिधनू इलाकों में भी पुलिस गश्त के साथ हाइवे पर निगरानी में लगे हुए हैं। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आरएएफ के जवान भी चकेरी सहित अन्य हाइवे क्षेत्रों में तैनात हैं।

इस सम्बंध में संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि युवाओं की भीड़ को रोकने के लिए हाइवे पर निगरानी व सुरक्षा बल तैनात किया गया है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आरएएफ के जवान में लगाए गए हैं। इसके साथ ही प्रतियोगी तैयारी करने वालों छात्रों को अग्निपथ योजना के बारे में जागरूक किया जा रहा है ताकि जानकारी के अभाव में किसी भी प्रकार का प्रदर्शन उनके द्वारा न किया जाए।

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कई ट्रेनें निरस्त

बता दें कि, देशभर में अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन व अराजक तत्वों द्वारा तोड़तोड़, आगजनी की घटनाएं की जा रही हैं। इन हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए रेलवे विभाग द्वारा कानपुर सेन्ट्रल से चलने वाली कई ट्रेनें एहतियातन निरस्त कर दी गई हैं। इससे रेल यात्रियों को भी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे की ओर से कई ट्रेनों को निरस्त किए जाने की बात कही जा रही है। कानपुर सेन्ट्रल स्टेशन अधीक्षक अनिल तिवारी ने बताया कि करीब कानपुर सेन्ट्रल स्टेशन व यहां से गुजरकर कई रूटों की 61 ट्रेनों को निरस्त किया गया है।

Check Also

वाराणसी: फसल बीमा योजना का किसानों को मिलेगा लाभ, प्रचार वाहन गांव-गांव रवाना

वाराणसी, 04 जुलाई (हि.स.)। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत चल रहे विभिन्न कार्यक्रमों की …