श्री सुमेर पुष्टिकर स्कूल के खिलाफ वसूली वारंट जारी : शारीरिक शिक्षक को भुगतान नहीं करने का मामला

जोधपुर, 05 फरवरी (हि.स.)। जिला एवं सेंशन न्यायाधीश संख्या 1 जोधपुर ने एक शारीरिक शिक्षक को भुगतान नहीं करने के मामले में सुनवाई करते हुए श्री सुमेर पुष्टिकर सीनियर सैकेण्डरी स्कूल जालोरी गेट के खिलाफ वसूली वारंट जारी किया है।

जोधपुर निवासी सोहनकिशन जोशी की नियुक्ति शारीरिक शिक्षक के रूप में श्री सुमेर पुष्टिकर स्कूल में हुई थी। राज्य सरकार के राजस्थान स्वैच्छिक ग्रामीण सेवा नियम 2010 के तहत इनका समायोजन कॉलेज शिक्षा विभाग में शारीरिक शिक्षक के पद पर हो गया। समायोजन के पश्चात् वे आज अपनी सेवाएं शारीरिक शिक्षक के रूप में शारीरिक कॉलेज जोधपुर में दे रहे हैं। समायोजन से पूर्व राज्य कर्मचारियों की भांति किसी विद्यालयों में काम कर रहे शिक्षकों कर्मचारियों व शारीरिक शिक्षकों को भी चयनित वेतनमान उपार्जित अवकाश के बदले नकद भुगतान व आर्थिक वेतन वृद्धि आदि का लाभ प्राप्त करने का अधिकार था लेकिन प्रार्थी सोहन किशन को पुष्टिकर स्कूल द्वारा 2010 से पूर्व के लाभ प्रदान नहीं किए गए। स्कूल के इस कृत्य से कथित होकर उन्होंने एक वाद राजस्थान गैर सरकारी शैक्षणिक अधिकरण में प्रस्तुत किया। राजस्थान गैर सरकारी शैक्षणिक अधिकरण ने सोहन किशन के पक्ष में चार फरवरी 2022 को डिक्री पारित की। सोहन किशन के पक्ष में डिक्री जारी होने के पश्चात् भी स्कूल द्वारा उन्हें वित्तीय लाभ प्रदान नहीं किए गए।

इसके बाद प्रार्थी सोहन किशन ने अपने अधिवक्ता प्रमेन्द्र बोहरा के माध्यम के एक इजराय डिक्री निष्पादन हेेतु जिला एवं सत्र न्यायालय संख्या 1 जोधपुर के समक्ष प्रस्तुत की। सत्र न्यायालय द्वारा अप्रार्थी पुष्टिकर एज्यूकेशन ट्रस्ट के सचिव व शिक्षा विभाग को नोटिस जारी किए गए। नोटिस स्कूल को प्राप्त होने के उपरान्त भी स्कूल की तरफ से किसी ने भी उपस्थिति नहीं दी। स्कूल के इस कृत्य को गम्भीर मानते हुए जिला एवं सत्र न्यायालय संख्या 1 ने श्री पुष्टिकर एज्यूकेशन ट्रस्ट एसोसिएशन व श्री सुमेर पुष्टिकर सीनियर सैकेण्डरी स्कूल मैनेजमेंट कमेटी जरिये सचिव के विरूद्ध वसूली वारण्ट जारी किए।