टॉल प्लाजा से वसूली आर्थिक अपराध तो नहीं,सामाजिक कार्यकर्ता ने डाला आरटीआई

अररिया 21जून(हि.स.)। ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के तहत गुजरात के पोरबंदर से असम के सिलचर तक बने फोरलेन सड़क में अररिया के हड़ियाबारा स्थित टॉल प्लाजा पर गाड़ियों से की जा रही वसूली आर्थिक अपराध तो नहीं।

इसको लेकर सामाजिक कार्यकर्ता दक्षिणेश्वर राय ने टॉल प्लाजा अररिया के खिलाफ आरटीआई दाखिल किया है और मांग की है कि टॉल प्लाजा स्थापित करने के समय कितना वसूली का लक्ष्य रखा गया था।लंबे समय से हो रही वसूली के दौरान लक्ष्य की प्राप्ति हुई या नहीं या अभी वसूली होना बाकी है।अगर वसूली कर ली गयी है तो वर्तमान समय में हो रहा वसूली आर्थिक अपराध की श्रेणी में नही है क्या।उन्होंने एकरारनामा की प्रति एवं वसूली स्थिति का प्रिंट कॉपी देने की मांग आरटीआई के माध्यम से की है।

दूसरे आरटीआई के माध्यम से सामाजिक कार्यकर्ता दक्षिणेश्वर प्रसाद राय ने पूछा है कि क्या लोकल प्राइवेट गाड़ियों से टॉल लेने का अग्रीमेंट है।समाजिक कार्यकर्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि टॉल प्लाजा पर प्रतिदिन कर्मचारियों के साथ लोकल नम्बर वाली गाड़ियों के साथ झगड़ा होता रहता है।जिला मुख्यालय होने के कारण प्रतिदिन लोगों को कचहरी,समाहरणालय समेत अन्य सरकारी कार्यालय जाने के लिए अनेकों बार टॉल होमर गुजरना होता है तो ऐसी परिस्थिति में हरेक बार टॉल से होकर गुजरने के लिए अपने ही जिला में बार-बार जेबें ढीली करनी होगी।

गम्भीर सवाल सृजित करते हुए दक्षिणेश्वर प्रसाद राय ने एनएचएआई अथॉरिटी से सम्बंधित दस्तावेज की मांग की है।साथ ही जिला प्रशासन से टॉल प्लाजा संचालक पर कार्रवाई की मांग की है।उन्होंने टॉल प्लाजा में भारी गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की है।

Check Also

सर्राफ व्यापारी के बेटे से हथियार के बल पर अपराधियों ने लूटे 30 किलो चांदी

भागलपुर, 24 जून (हि.स.)। जिले के तिलकामांझी थाना क्षेत्र के पटल बाबू रोड स्थित आर …