सोनू सूद की बहन के आने से कांग्रेस में बढ़ी बगावत, इस नेता ने थामा BJP का दामन

नई दिल्ली: कांग्रेस ने पंजाब विधान सभा चुनाव (Punjab Assembly Election) के लिए शनिवार को 86 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की, जिसमें मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू, उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा और ओ पी सोनी समेत कई वरिष्ठ नेताओं के नाम शामिल हैं. जैसा कि पिछले कई दिनों से देखा जा रहा है कि कांग्रेस में अंदरखाने कई बगावतों के सुर उठते रहते हैं. ऐसे में शनिवार को जब लिस्ट आई तो एक और बड़े चेहरा ने कांग्रेस के खेमे को अलविदा कह दिया.

कांग्रेस में बगावत के सुर

दरअसल मोगा से कांग्रेस के विधायक हरजोत कमल (Harjot Kamal Singh) भाजपा में शामिल हो गए हैं. इसके पीछे की वजह ये है कि कांग्रेस ने मोगा सीट से ने मालविका सूद को टिकट दे दिया है. बता दें कि मालविका सूद मशहूर अभिनेता सोनू सूद की बहन हैं.

 

सोनू सूद की बहन के आने से खड़ा हुआ विवाद

गौरतलब है कि मोगा से कांग्रेस विधायक हरजोत कमल लगातार मालविका को टिकट देने का विरोध करते रहे हैं. बीते मंगलवार को हरजोत कमल ने समर्थकों के साथ मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के आवास पर पहुंचकर उनसे मुलाकात भी की थी. उस मुलाकात के दौरान तो सीएम चन्नी ने कहा था कि उनकी अपनी टिकट ही पक्की नहीं है. लेकिन अब चन्नी की टिकट तो पक्की हो गई लेकिन हरजोत को साइड कर दिया गया. हरजोत ने दावा किया था कि वह ही मोगा से जीतने वाले प्रत्याशी हैं. पार्टी मालविका को किसी और विधानसभा क्षेत्र से भी लड़वा सकती है.

पार्टी छोड़ने के बाद कही ये बात

हरजोत कमल ने भाजपा में शामिल होने के बाद कहा, ‘जे पी नड्डा जी से मेरे पारिवारिक संबंध हैं, जिनके चलते मैं पार्टी में आया हूं. मैं 21 साल कांग्रेस में रहा, मैंने रात दिन एक करके कांग्रेस को मोगा में खड़ा किया. मैं शुक्रगुजार हूं मोगा के मेरे साथियों का. मुझे इस बात का कोई मलाल नहीं है कि मेरी टिकट काटी गई लेकिन पार्टी द्वारा मेरी जलालत की गई. मुझे इतना दुख नहीं होता अगर मुझे किसी गलती की वजह से निकाला जाता. लेकिन अब पार्टी को एक ऐसा चेहरा मिल गया जो कि पार्टी के लिए प्रचार करेगा और फिर उसके लिए मेरे योगदान को भूलना बहुत गलत है.’

हरजोत को मोगा से प्यार

उन्होंने आगे कहा, ‘मालविका मेरी छोटी बहन है, लेकिन मालविका का एक्सपीरिएंस मुझ से बहुत कम है. मुझे पार्टी ने ऑफर किया कि कोई और हल्की सीट ले लो. लेकिन मुझे मोगा से प्यार है.’

सीएम चन्नी और सिद्धू इस सीट से लड़ेंगे चुनाव

पार्टी की ओर से जारी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार, मुख्यमंत्री चन्नी चमकौर साहिब से एक बार फिर चुनाव लड़ेंगे. वह रूपनगर जिले की इस सीट से साल 2007 से लगातार विधायक हैं. पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सिद्धू को एक बार फिर से उनके मौजूदा विधानसभा क्षेत्र अमृतसर पूर्व से उम्मीदवार बनाया गया है. वह साल 2017 में इस सीट से निर्वाचित हुए थे. साल 2012 में उनकी पत्नी नवजोत कौर ने इस सीट पर भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर जीत हासिल की थी.

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …