आरबीआई ने मोबाइल ऐप ऋणदाताओं की खिंचाई की; सीधा लाइसेंस निरस्त

मुंबई: आरबीआई ने रद्द किया 5 एनबीएफसी लाइसेंस: भारतीय रिजर्व बैंक ने पांच गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है और उनके लाइसेंस रद्द कर दिए हैं। अनियमितताओं और नियमों के उल्लंघन के कारण आरबीआई ने इस एनबीएफसी का लाइसेंस रद्द कर दिया। जिन कंपनियों के लाइसेंस आरबीआई ने रद्द कर दिए हैं, वे ऐप के जरिए कर्ज दे रही थीं।

इन कंपनियों पर कार्रवाई

आरबीआई ने कहा कि यूएमबी सिक्योरिटीज लिमिटेड, अनाश्री फिनवेस्ट, चड्ढा फिनवेस्ट, एलेक्सी ट्रैकॉन और जुरिया फाइनेंशियल सर्विसेज के लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं। ये कंपनियां अलग-अलग ऐप के जरिए ग्राहकों को कर्ज देती थीं। 

हे ऍप बंद

आरबीआई द्वारा प्रतिबंधित ऐप में मृपी, कुश कैश, फ्लाईकैश, मोनीड, वाईफाई कैश जैसे ऋण मोबाइल एप्लिकेशन शामिल हैं। UBM Securities Fastop Technology नामक ऐप के माध्यम से उधार देती थी। अंश्री फिनवेस्ट मृपी, कुश कैश, कर्ण लोन फ्लाईकैश जैसे मोबाइल ऐप के जरिए कर्ज देती थी।

 

दिल्ली स्थित चड्ढा फाइनेंस वाईफाई कैश के मोबाइल ऐप के माध्यम से ऋण प्रदान करता है। एलेक्सी ट्रैकोन सेवा को बडाब्रो गीगा के नाम से जाना जाता है। इसी तरह, झुरिया फाइनेंशियल मोमो, मोनीड, कैश फिश, क्रेडिप, रुपी मास्टर, रुपीलैंड जैसे ऐप के जरिए लोन मुहैया करा रही थी।

Check Also

सिंगल यूज प्लास्टिक बैन: आज से पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन; इन 19 वस्तुओं पर प्रतिबंध

सिंगल यूज प्लास्टिक बैन: देश में सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया …