Rajasthan : झालावाड़ नाबालिग बलात्कार मामले में पॉक्सो कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, आरोपी को सुनाई 20 साल की सजा

राजस्थान (Rajasthan) में जहां एक तरफ महिला अत्याचार (woman atrocities) और किशोरियों के साथ बलात्कार (minor rape) की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है वहीं दूसरी ओर झालावाड़ (Jhalawar) जिले में एक विशेष अदालत ने रेप के आरोपियों को कठोर सजा सुनाकर इंसाफ का इकबाल एक बार फिर कायम करने की कोशिश की है. झालावाड़ में एक विशेष अदालत ने 2020 में हुए एक किशोरी से रेप (Rape) मामले में एक आरोपी को 20 साल के कारावास की सजा सुनाई है. वहीं पॉक्सो अदालत (POSCO court) ने दोषी पर 35 हजार रुपए जुर्माना लगाने का भी आदेश दिया है.

बता दें कि इस मामले में पीड़िता के परिवार की तरफ से भारतीय दंड संहिता (Indian penal code) और पॉक्सो कानून की धाराओं के तहत उत्पीड़न और छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवाया गया था. इसके बाग सीआरपीसी की धारा 161 और 164 के तहत नाबालिग (Minor) के बयान दर्ज किए गए जिसके आधार पर रेप की धाराओं को मामले में जोड़ा गया.

शौच के लिए बाहर गई किशोरी का पड़ोसी ने किया था रेप

इस मामले में सरकारी वकील रामहेतर गुर्जर ने जानकारी देते हुए बताया कि झालावाड़ की पॉक्सो अदालत-1 ने शहर के रहने वाले 22 वर्षीय भूपेंद्र सिंह उर्फ बिट्टू को जून 2020 में हुए रेप के एक मामले दोषी पाया है. वकील ने आगे बताया कि नाबालिग ने आरोप लगाया था कि देर रात शौच जाने के दौरान उसके पड़ोसी ने रेप किया था.

मामले में पुलिस ने लड़की की मेडिकल जांच कर सबूत जुटाए और नाबालिग के बयानों के आधार पर रेप की धाराएं जोड़ी और आरोपी को सजा तक पहुंचाया. बता दें कि इस मामले में सुनवाई के दौरान अदालत से सामने 14 गवाहों के बयान दर्ज करवाए और 22 दस्तावेजों में सबूत पेश किए गए.

कोटा में भी सुनाई गई थी 13 दोषियों को 20 साल की सजा

बीते साल दिसंबर महीने में राजस्थान के कोटा में भी जिला अदालत ने एक 15 साल की नाबालिग के साथ बलात्कार मामले में ऐतिहासिक फैसला सुनाया था. अदालत ने इस मामले में 13 लोगों को 20-20 साल और 2 दोषियों को चार-चार साल की सजा सुनाई थी. अदालत ने इस मामले का एक साल के भीतर निस्तारण कर फैसला सुनाया. वहीं अदालत ने लड़की को बेचने के मामले में एक महिला को भी 4 साल के कारावास की सजा सुनाई.

Check Also

महाराष्ट्र | शीत लहर एक और दिन जारी रहेगी; उत्तर भारत में जलवायु परिवर्तन का प्रभाव

पुणे: उत्तर भारत में शीत लहर के परिणाममहाराष्ट्र में भी लहर के अगले दो दिनों तक …