हमीरपुर : पितर पक्ष में बारिश ने 1992 का रिकार्ड तोड़ा

22ham5_583

हमीरपुर, 22 सितम्बर (हि.स.)। इस वर्ष पितर पक्ष में बरसात ने 1992 के रिकॉर्ड को ध्वस्त किया है। बारिश थमने के 24 घंटे गुजर जाने के बाद क्षेत्र में रहने वाले नालों का जलस्तर कम नहीं हुआ है। क्षेत्र में बहने वाले लीणा नाला, करोड़न नाला, महिला नाला गुरुवार को भी विकराल रूप धारण किए रहे। जबकि गुरुवार को सुबह से बारिश थमी रही।

सुमेरपुर कस्बे के निवासी डाॅ भवानीदीन, अरुण प्रकाश तिवारी, राधेश्याम तिवारी, राजेंद्र मिश्रा आदि ने बताया कि पितृपक्ष में बहुत ही कम बारिश होती है। वर्ष 1992 में पितृपक्ष खत्म होते समय भारी बारिश हुई थी। जिससे किसानों के साथ आम लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था।

1992 के बाद इस वर्ष बुधवार को 12 घंटे की मूसलाधार बारिश ने अपने रिकॉर्ड को तोड़ कर नया इतिहास रचा है। उस समय इतनी तबाही नहीं हुई थी। जितनी इस वर्ष हुई है। इस वर्ष बारिश थमने के 24 घंटे गुजर जाने के बाद क्षेत्र में बहने वाले सभी नाले बराबर उफना रहे हैं। गुरुवार को लीणा नाला, करोड़न नाला, महिला नाला के अलावा छोटे-छोटे नाले बुधवार की तरह पूरी वेग से उफनाते रहे। अगर रात में बारिश नहीं होती है तो शुक्रवार से पानी कम होने की उम्मीद है।

राशन की दुकान में घुसा पानी गेहूं चावल भीगा

धुंधपुर की राशन की दुकान में पानी घुस जाने से वितरण के लिए आया गेहूं चावल बुरी तरह से भीग गया है। राशन विक्रेता ने घटना से जिला पूर्ति अधिकारी को अवगत कराया है। धुंधपुर के राशन विक्रेता देवीदीन ने जिला पूर्ति अधिकारी बीके शुक्ला को अवगत कराया कि बुधवार को हुई मूसलाधार बारिश से राशन की दुकान में पानी घुस जाने से वितरण के लिए लाया गया गेहूं चावल बुरी तरह से भीग गया है। राशन विक्रेता ने बताया कि यह सामग्री वितरण योग्य नहीं बची है।

अकाशीय बिजली से कामाख्या देवी मंदिर की दीवार ढही

आकाशीय बिजली की चपेट में आने से देवगांव के कामाख्या मंदिर प्रांगण की एक दीवार धराशाई हो गई। मंदिर के महंत पतरिया महाराज ने बताया कि अकाशीय बिजली की चपेट में आने से मंदिर प्रांगण का कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है।

Check Also

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx_942

विश्व पर्यटन दिवस पर निकली हेरिटेज वाॅक,नमामि गंगे ने स्वच्छता की जगाई अलख

वाराणसी, 27 सितम्बर (हि.स.)। विश्व पर्यटन दिवस पर मंगलवार को धर्म नगरी काशी में कई …