जहरीले वातावरण में खुशबू फैला रहा रामगढ़ का “पुटुस”

रामगढ़ : फिज़ा में जहर खुला है, लेकिन रामगढ़ का पुटुस लोगों के घरों में खुशबू फैला रहा है। सुनने में ऐसा लग रहा है मानो कहीं पुटुस का पौधा लगा दिया गया हो। लेकिन रामगढ़ शहर में भाजपा नेता धनंजय कुमार पुटुस अपने नाम के अर्थ को चरितार्थ कर रहे हैं। सुबह उठते ही उनकी दिनचर्या लोगों की मदद के लिए शुरू हो जाती है। जिसने भी उनको फोन किया, उन तक सहायता अवश्य पहुंचती है। आपातकाल हो तो रात में भी वह सहायता के लिए पहुंचते हैं।
जिले में सैकड़ों लोग ऐसे हैं जो पाबंदियों की वजह से घर से नहीं निकल सकते। कई घरों में सभी सदस्य बीमार पड़े हुए हैं। दवा लाने वाला भी कोई नहीं। ऐसी स्थिति में धनंजय उनके घर तक दवाइयां, फल आदि पहुंचा रहे हैं। जिन लोगों के पास पैसे नहीं हैं उनके लिए भी उनकी टेलीफोन की घंटी उतनी ही काम करती है। पिछले एक सप्ताह से वे लगातार जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। यह दिन अपना नंबर सोशल मीडिया पर जारी करते हैं, ताकि लोग उनसे संपर्क कर सकें।
धनंजय का कहना है कि कोरोना संक्रमण के दौर में एक दूसरे का साथ बहुत जरूरी है। इस लड़ाई को जीतने के लिए हमें मन से एक दूसरे के साथ होना होगा। रामगढ़ जिले में ऐसे कई लोग हैं, जिनके बच्चे दूसरे प्रदेशों में हैं। बंदिशों की वजह से वह अपने घर नहीं आ सकते। घर के बुजुर्ग और महिलाएं अगर बीमार हो गए, तो उन्हें दवा पहुंचाने वाला भी कोई नहीं। कुछ लोग ऐसे हैं जो अपने परिजनों की सेवा में लगे हैं। वे उन्हें घर में अकेला नहीं छोड़ सकते। जितने लोगों ने उन्हें फोन किया है उन सभी की पहचान उन्होंने गुप्त रखी है। इसकी वजह भी स्पष्ट है कि वह किसी की मर्यादा और सम्मान को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते।
आज के दौर में काफी लोग ऐसे हैं, जो संकोच की वजह से मदद का हाथ नहीं फैलाते। लेकिन आज का समय काफी कठिन है। लोगों को अगर जरूरत है तो नि:संकोच फोन करें। मदद देने के लिए पुटुस जैसे कई लोग तैयार हैं। जो सक्षम हैं वह सामान के बदले में पैसा दे सकते हैं। लेकिन जो सक्षम नहीं है वह पैसे के अभाव में संकोच ना करें। मदद पहुंचाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। धनंजय कोविड-19 हॉस्पिटल, ट्रामा सेंटर, अरगड्डा कोलियरी व रामगढ़ की गली गली में लोगों तक मदद पहुंचा रहे हैं। धीरे-धीरे उनकी खुशबू हर गली में महसूस की जा जाने लगी है।

 

NEWS KABILA

Check Also

विश्व योग दिवस:कोरोना के खिलाफ योगाभ्यास को बनाएं रक्षा कवच; शिक्षिका ने कहा- हमारी वर्चुअल ट्रेनिंग में जुड़ते हैं मुस्लिम देशों के लोग, मंत्र की जगह पढ़ते कलमा

  योग करती राफिया नाज योगगुरु मुक्तरथ ने कहा- योग करने वाले को कोई रोग …