रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि यूक्रेनी ड्रोन ने दक्षिण-मध्य रूस में रियाज़ान और सेराटोव में दो हवाई अड्डों पर हमला किया। जिसमें तीन जवान शहीद हो गए और चार घायल हो गए। जब ड्रोन को मार गिराया गया तो इसके मलबे ने दो विमानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। यूक्रेन ने सीधे तौर पर इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है। लेकिन अगर यूक्रेन द्वारा हमले किए गए, तो यह 24 फरवरी को युद्ध शुरू होने के बाद से रूसी गढ़ में सबसे बड़ा यूक्रेनी हमला होगा।

रूस शीतकालीन हथियार बना रहा है

हमले में एंगेल्स एयरबेस को भी निशाना बनाया गया, जो मॉस्को से लगभग 730 किमी दूर सेराटोव शहर के पास स्थित है। यह रूस के रणनीतिक परमाणु बलों के बमवर्षक विमानों का ठिकाना माना जाता है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने ड्रोन हमले को ‘आतंकवाद’ करार दिया है। रूस और यूक्रेन फरवरी से युद्ध में हैं और युद्ध अब अपनी पहली सर्दियों में प्रवेश कर रहा है। रूस यूक्रेन को तबाह करने के लिए भीषण ठंड को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करना चाहता है। यही कारण है कि वह अब यूक्रेन की बिजली आपूर्ति बाधित करने के इरादे से हमले कर रहा है।