पर्स मनी उपाय: यदि वेतन आते ही खत्म हो जाए तो राशि के अनुसार यह उपाय करें

पर्स मनी उपाय: कभी-कभी लोग पैसा कमाने के लिए बहुत मेहनत करते हैं और जब पैसा हाथ में आता है तो अचानक नए खर्च सामने आ जाते हैं या वेतन खाते में जमा होते ही खर्च हो जाता है। ऐसे में विशेष उपाय करने की जरूरत है। ज्योतिष और वास्तु के अनुसार ग्रहों के प्रभाव को ठीक करने के लिए कई उपाय किए जा सकते हैं और जातक की कुंडली में ग्रहों की दशा को ठीक किया जा सकता है। अगर आपकी सैलरी भी जल्दी खत्म हो जाती है और हर महीने नए खर्चे सामने आते हैं तो आप अपनी राशि के अनुसार ये उपाय आजमा सकते हैं –

मेष, सिंह और धनु राशि वाले यह उपाय करें

यदि मेष, सिंह या धनु राशि वालों की सैलरी जल्दी खत्म हो रही हो और नए खर्चे सामने आ रहे हों तो सैलरी का कुछ हिस्सा दान कर देना चाहिए। गरीबों और जरूरतमंदों को खाने-पीने का दान देना चाहिए। इसके अलावा मां की दाल से बने व्यंजन भी गरीबों को खिलाना चाहिए। इन चीजों का दान करने से ऑफिस का तनाव भी कम होगा और कोई भी दुर्घटना होने से बचा जा सकता है।

बृह, कन्या या मकर राशि के जातकों को इन चीजों का दान करना चाहिए

बृह, कन्या या मकर राशि के जातकों को भी अपनी आय का कुछ हिस्सा दान करना चाहिए। इन तीनों राशि के जातकों को भी हर शनिवार को शनिदेव को तेल चढ़ाना चाहिए, ऐसा करने से खर्चे भी कम होंगे और मनचाही नौकरी मिलने की क्षमता बढ़ेगी।

मिथुन, तुला या कुम्भ राशि वाले रोगियों की देखभाल करना

मिथुन, तुला या कुम्भ राशि वाला जातक अपना वेतन जल्दी खर्च कर देता है इसलिए उसे अपने वेतन का कुछ हिस्सा गरीबों के स्वास्थ्य पर खर्च करना चाहिए। अस्पताल में दान करें। गरीबों को दवाइयां भी बांटी जा सकती हैं। ऐसा करने से उन्नति के भी योग बनेंगे और नौकरी में कोई बाधा नहीं आएगी।

कर्क, वृश्चिक या मीन राशि वाले वस्त्र और जूते दान करें

कर्क, मकर या मीन राशि वालों को वेतन मिलने पर कपड़े या जूते पहनने चाहिए। कृपया इन वस्तुओं को अपने घर के किसी बुजुर्ग व्यक्ति को दें। इसके अलावा प्यासे लोगों को पानी पिलाने की भी व्यवस्था की जाए। इससे लंबा जीवन, बेहतर स्वास्थ्य और आर्थिक समृद्धि होती है।

Check Also

Mahashivratri 2023: महाशिवरात्रि पर हो रहा है ‘महासंयोग’! इन उपायों से प्रसन्न होंगे शिव

महाशिवरात्रि 2023 : भगवान भोलेनाथ (भगवान शिव) और देवी पार्वती (देवी पार्वती) का विवाह समारोह माघ महीने में कृष्ण …