5वीं सदी की बुद्ध प्रतिमा देख अभिभूत हुए एयरोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष

14dl M 993 14122023 1

कुशीनगर, 14 दिसंबर(हि.स.)। एयरोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डा.जी सतीश रेड्डी ने गुरुवार देर शाम को कुशीनगर में स्थित गौतम बुद्ध की महापरिनिर्वाण प्रतिमा का दर्शन पूजन किया। प्राचीन कुशीनगर के उत्खनित पुरावशेषों को देखा और इंटरप्रिटेशन सेंटर में बुद्ध की जीवन यात्रा देखी सुनी। राजकीय अतिथि के रूप में पहुंचे डा.रेड्डी का जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

डीडीआरएंडडी के पूर्व सचिव,डीआरडीओ के चेयरमैन के साथ रक्षा मंत्रालय में सलाहकार के पद पर रह चुके डा.रेड्डी गोरखपुर एयरपोर्ट से सीधे कुशीनगर पहुंचे। उन्होंने महात्मा बुद्ध की 5वीं सदी की शयन मुद्रा वाली प्रतिमा पर चीवर अर्पित किया। शीश नवाकर विश्व शांति की कामना की। बौद्ध भिक्षु डा.नंद रतन व भंते अशोक ने डा.रेड्डी को महात्मा बुद्ध की प्रतिमा के विभिन्न मुद्राओं व पैर में बने चक्र की विशिष्टता बताई।

वह मुकुटबंधन चैत्य भी गए और थाई वास्तुकला की खूबियां समेटे थाई वाट को भी देखा।

थाई वाट चैत्य में स्वर्ण कलश में संजोई महात्मा बुद्ध की पवित्र अस्थियों का दर्शन कर डा. रेड्डी अभिभूत दिखे। वह शुक्रवार को महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी के उदघाटन सत्र के मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लेंगे।

रेड्डी समेत डीआरडीओ के वरिष्ठ अधिकारी डॉ.अनंत नारायण भट्ट का स्वागत उप कुल सचिव श्रीकांत,अपर सिटी मजिस्ट्रेट गोरखपुर संजय कुमार,एसडीएम योगेश्वर सिंह ने किया।