मौजूदा पाकिस्तान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी

इस्लामाबाद, 13 जनवरी (हि.स.)। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विरोध में एक बार फिर विपक्ष एकजुट हो रहा है। मौजूदा पाकिस्तान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी हो रही है। इसके लिए 25 जनवरी को पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक होगी।

पाकिस्तानी डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नेता मौलाना फजलुर रहमान ने दावा किया कि पाकिस्तान के विपक्षी दल मौजूदा सरकार की बर्खास्तगी तक शांत नहीं रहेंगे। उन्होंने सरकार के समर्थक दलों से भी राष्ट्रहित व आम आदमी के बारे में सोचकर इमरान खान सरकार से समर्थन वापस लेने की अपील भी की। मौलाना फजलुर रहमान जमीअत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख भी हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) की अगुवाई वाली सरकार के खिलाफ मजबूत विरोध करना पाकिस्तान के हित में जरूरी हो गया है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए पाकिस्तान ड्रेमोकेटिक मूवमेंट 23 मार्च राजधानी की ओर बड़ा मार्च शुरू करेगी। 25 जनवरी को होने वाली विपक्षी दलों की बैठक में इस मार्च की योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी सरकार एक स्वतंत्र देश को फिर से उपनिवेश बनाने पर काम कर रही है। सरकार को आम आदमी की शिकायतों व दर्द का एहसास नहीं है। इसके खिलाफ जोरदार आंदोलन चलाया जाएगा। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के नेता शाहबाज शरीफ ने भी कहा कि देश के 74 साल के इतिहास में मौजदा सरकार और सत्ता संभाल रही पार्टी पीटीआई सबसे अक्षम है। देश सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है।

Check Also

तख्तापलट पर अफ्रीकी गुट ने बुर्किना फासो की सदस्यता निलंबित की

अकरा, 29 जनवरी (आईएएनएस) पश्चिम अफ्रीकी राज्यों के आर्थिक समुदाय (इकोवास) ने घोषणा की है कि …