भारत में प्रार्थनाएं शुरू हो गईं, जीत के लिए 10 लड़के निर्जला व्रत पर बैठ गए

क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल मैच रविवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला जाना है. इसी के चलते देशभर में भारत की जीत के लिए प्रार्थना और आशीर्वाद का सिलसिला लगातार जारी है. मुजफ्फरनगर के 10 लड़के भी भारत की जीत के लिए प्रार्थना करते हुए निर्जला व्रत पर चले गए हैं.

10 बालकों ने निर्जला व्रत रखा

19 नवंबर यानी आज क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल मैच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाएगा. सभी भारतीय दुआ कर रहे हैं कि भारत ये मैच जीते और वर्ल्ड कप जीते. इतना ही नहीं कई जगहों पर भारत की जीत के लिए हवन-पूजा भी किया जा रहा है. तो वहीं मुजफ्फरनगर के 10 लड़कों ने भी निर्जला व्रत रखा है.

उनका कहना है कि जब तक भारत नहीं जीत जाता तब तक वह न कुछ खाएंगे और न ही कुछ पीएंगे. शिव चौक पर पहुंचकर 10 युवाओं ने सबसे पहले भारत की जीत के लिए भगवान शिव शंकर की पूजा की. तब निर्णय लिया गया कि रात 12 बजे से निर्जला व्रत करेंगी। इस दौरान वह कुछ भी नहीं खाएंगे और न ही पीएंगे। इन युवाओं का यह भी कहना है कि अगर किसी कारण से भारत फाइनल मैच हार गया तो वे जिंदगी में कभी क्रिकेट मैच नहीं देखेंगे।

लोग सुंदरकांड का पाठ कर रहे हैं

उधर, फतेहपुर में भारत की जीत की कामना करते हुए सुंदरकांड का पाठ कर हवन-पूजन किया गया। इस सुंदरकांड और हवन-पूजन का आयोजन फ़तेहपुर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के तत्वाधान में किया गया था. युवा खिलाड़ियों के साथ-साथ महिलाओं ने भी हवन कर भारत की जीत के लिए प्रार्थना की. यह हवन-पूजन सिद्धपीठ बड़ा महादेवन में किया जाता है। यह पूजा भारतीय टीम का बैनर बनाकर की गई.

11 साल बाद भारत के नाम होगा कौन सा खिताब?

आपको बता दें कि भारतीय टीम सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड की टीम को हराकर फाइनल में पहुंची है. तो वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम दक्षिण अफ्रीकी टीम को हराकर फाइनल में पहुंच गई है. अब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल मुकाबला 19 नवंबर यानी आज खेला जाएगा. जो जीतेगा उसे वर्ल्ड कप मिलेगा.

इससे पहले भारत ने 2011 में वर्ल्ड कप जीता था. उस समय महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे। जबकि इस बार भारतीय टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथों में है. इसके बाद से टीम के सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है. आपको बता दें कि भारत इस वर्ल्ड कप में एक भी बार नहीं हारा है. सभी भारतीयों को पूरी उम्मीद है कि इस बार विश्व कप भारत के नाम होगा.