फतेहाबाद: नगर परिषद में यज्ञ करने पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका

फतेहाबाद, 5 फरवरी (हि.स.)। नगर परिषद कार्यालय में चल रही आपसी खींचतान और प्रधान-उपप्रधान के बीच विवाद के चलते शहर में विकास कार्य ठप्प पड़े हैं। इस तनातनी से शहर के लोगों में भी नगरपरिषद प्रशासन के खिलाफ रोष बढ़ता जा रहा है। नगर पार्षदों की सद्बुद्धि को लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा सोमवार को नगरपरिषद कार्यालय में सद्बुद्धि हवन यज्ञ की घोषणा की गई थी। जैसे ही पार्षदों को सद्बुद्धि यज्ञ का पता चला तो उन्होंने इस पर ऐतराज जताया।

सोमवार सुबह हवन यज्ञ करने नगरपरिषद कार्यालय पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस की तीखी नोक झोंक हुई। पुलिस का कहना था कि हवन यज्ञ करने से कानून व्यवस्था बिगड़ेगी। इसके बाद लोगों को यहां हवन यज्ञ नहीं करने दिया गया। आखिरकार सभी लोगों ने नगर परिषद के बाहर बाबा भीम राव अंबेडकर पार्क में बैठकर हवन यज्ञ किया। बता दें कि समाजसेवी संगठनों से जुड़े कार्यकर्ता विजय सहारण जोकि स्वच्छता अभियान के भी ब्रांड एम्बेसडर हैं, ने नगर परिषद में चल रही उठा-पटक व शहर की बदहाल व्यवस्था से दुखी होकर सोमवार को नगरपरिषद कार्यालय में सद्बुद्धि हवन यज्ञ करने का आह्वान किया था। उन्होंने शहरवासियों से सोमवार 10 बजे नगर परिषद कार्यालय पहुंचने की अपील की थी। इसके बाद शहर के काफी लोग, किसान संगठनों से जुड़े लोग सवा 10 बजे नगर परिषद पहुंच गए। यहां पर काफी संख्या में पुलिस बल पहले ही तैनात था।

नगर परिषद कार्यालय आते ही सिटी एसएचओ ओमप्रकाश ने हवन करने पहुंचे लोगों को रोक दिया। उनसे काफी देर तक बहसबाजी हुई। एसएचओ ने कहा कि यज्ञ करना है तो मंदिर में जाओ, यहां नहीं होने देंगे। यहां यज्ञ करने से कानून व्यवस्था बिगड़ जाएगी। लोगों ने सवाल उठाए कि यज्ञ करने से शांति आती है, वे कोई बमबारी करने नहीं आए जो कानून व्यवस्था बिगड़ेगी। आखिरकार विवाद बढ़ता देख लोगों ने कार्यालय के सामने स्थित अंबेडकर पार्क में हवन यज्ञ करने का निर्णय लिया और बाद में वहां हवन कुंड सजाकर यज्ञ कर दिया। विजय सहारण, विकास मेहता आदि ने रोष जताया कि नगर परिषद पूरी तरह नकारा है। 2022 में चुनी गई कमेटी द्वारा अभी तक शहर के विकास की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया, टेंडर तक नहीं हो रहे, लोग चक्कर काट कर परेशान हैं। काम तक नहीं होते और इसी को लेकर यह यज्ञ किया जा रहा था।