नेवई गोलीकांड का पुलिस खुलासा नहीं कर पा रही:मुख्य आरोपी मुकुल सोना समेत तीन फरार, दुर्ग पुलिस की टीम नहीं कर पा रही ट्रेस, लगातार मरोदा क्षेत्र में दिख रहे सक्रिय

 

गोलीकांड के फरार आरोपियों को पुलिस पिछले 17 दिनों से तलाश कर रही है। लेकिन हर बार पुलिस को चकमा देकर आरोपी फरार हो जाते है। - Dainik Bhaskar

गोलीकांड के फरार आरोपियों को पुलिस पिछले 17 दिनों से तलाश कर रही है। लेकिन हर बार पुलिस को चकमा देकर आरोपी फरार हो जाते है।

नेवई गोलीकांड के फरार आरोपियों को पुलिस 17 दिन बीत जाने के बाद भी ढूंढ नहीं पाई है। वारदात में शामिल मुख्य आरोपी मुकुल सोना और उसके साथी मुकेश पंचर और नागेंद्र सिंह पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। आरोपी लगातार पुलिस को चकमा देने में कामियाब हो रहे है। पहले सोशल मीडिया का सहारा लेकर अपना संदेश दे रहे थे, अब तो खुलेआम मुकुल सोना अपने घर पहुंचता है, और वहां करीब 2 घंटे रुकने के बाद फिर से फरार हो जाता है।
हवाई फायर करके आरोपी है फरार
पुलिस ने बताया कि 5 जुलाई को सड़क पर गाड़ी खड़े करने को लेकर हिस्ट्रीशीटर पिंकी राय और मुकुल सोना के बीच विवाद हुआ था। इसके बाद पिंकी राय के सामने ही उसने तीन हवाई फायर किए थे। इसके बाद वह अपने साथियों के साथ फरार हो गया। और वारदात के पांचवें दिन बाद दोबारा मुकुल ने तीन फायर किए। इसके बाद से सभी तीनों आरोपी फरार चल रहे है।
पुलिस की छह टीमों को दे रहा चकमा
दुर्ग पुलिस अंधेरे में तीर चला रही है। इन आरोपियों को पकड़ने के लिए 6 टीमों का गठन किया गया था। लेकिन आरोपी लगातार पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर घूम रहे है। लेकिन पुलिस ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि मंगलवार को मुकुल सोना स्टेशन मरोदा इलाके में अपनी बाइक से घूमते देखा गया है। इसके बाद पुलिस ने अपने तामझाम के साथ बैरिकेडिंग कर तलाश की, उसका कुछ अता-पता नहीं चला पाया। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है। मुकुल इतना शातिर तरीके से काम करता है कि पुलिस का सारा खुफिया तंत्र भी उसके सामने बौना साबित हो रहा है।
सोशल मीडिया हैंडल करने वाले केवल हुए केवल गिरफ्तार
मुकुल सोना और मुकेश पंचर के सोशल मीडिया (फेसबुक,इस्ट्राग्राम) को हैंडल करने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था। लेकिन गोलीकांड में पुलिस अभी तक केवल आसपास के जिलों में अपनी टीम भेज कर मुकुल के बारे में पतासाजी ही कर पाई है। कुछ दिन पहले ही नंदिनी थाना क्षेत्र से पुलिस ने उसकी बाइक को बरामद किया था। लेकिन आरोपी फिल्मी अंदाज में मौके से फरार हो गया था।
एडिशनल एसपी संजय ध्रुव का कहना है कि हमारी टीम आरोपियों को पकड़ने की पूरी कोशिश कर रही है, और जल्द ही सभी को पकड़ लिया जाएगा।
लेकिन बड़ा सवाल यह है कि आखिरकार पुलिस विभाग के मुखबिर व उसके सूचना तंत्र के लोग उसको ट्रेस क्यों नहीं कर पा रहे है, जबकि वो लगातार मरोदा व भिलाई के आसपास इलाके में ही देखा जा रहा है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

Rajasthan में कील-कांटे दुरुस्त करने में जुटी कांग्रेस, कई बड़े चेहरों की छुट्टी तय!

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में मंत्रिमंडल विस्तार फेरबदल, राजनीतिक नियुक्तियों और जिला अध्यक्ष, ब्लॉक अध्यक्ष के मसले …

");pageTracker._trackPageview();