जयशंकर को पीएम मोदी का आह्वान: आधी रात के बाद जब जयशंकर को पीएम मोदी का फोन आया तो उन्होंने पूछा- जाग रहे हो

23_09_2022-23_09_2022-electric_cars__23092366_9138509

नई दिल्ली: अगस्त 2021 में जब तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया, तो भारत ने तुरंत अपने नागरिकों को वहां से निकाल लिया। भारत ने अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन देवी शक्ति शुरू की। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2021 की रात, तख्तापलट के दिन, आधी रात को भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में पूछताछ की।

विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने एक किस्सा सुनाकर इसकी पुष्टि की। यह घटना अफगानिस्तान से आए भारतीयों का रेस्क्यू मिशन है। अमेरिका के न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम के दौरान जयशंकर ने कहा कि आधी रात का समय था जब मेरे फोन की घंटी बजी। जब पीएम आपको कॉल करते हैं तो कोई कॉलर आईडी नहीं आती है। मैं थोड़ा हैरान था लेकिन कोई आपसे बात करने की कोशिश कर रहा है, यहां तक ​​कि कॉलर आईडी पर भी। इस बार वे प्रधानमंत्री थे। वे मान रहे थे कि मैं उन्हें पहचान लूंगा। तो उनका पहला सवाल था, क्या आप जाग रहे हैं? मैंने कहा हां सर।

जयशंकर ने कहा कि इसके बाद उन्होंने थोड़ा अपडेट दिया। तब प्रधान मंत्री ने कहा कि जब यह खत्म हो जाए तो मुझे बुलाओ। जयशंकर ने कहा कि मैंने कहा सर, दो से तीन घंटे और लगेंगे।

ऑपरेशन डिवाइन पावर

अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों को बचाने का मिशन खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रहा है। इस मिशन को भारत द्वारा ‘ऑपरेशन डिवाइन पावर’ नाम दिया गया था। आखिर तालिबान के क्रूर आतंकवादियों से जान बचाने के इस कठिन मिशन को ऐसा नाम क्यों दिया गया, इस मिशन को ऑपरेशन देवी शक्ति नाम दिया गया है क्योंकि जिस तरह ‘माँ दुर्गा’ मासूमों को राक्षसों से बचाती है, इस मिशन का लक्ष्य है रक्षा करने के लिए तालिबान आतंकवादियों की हिंसा से निर्दोष नागरिक

Check Also

content_image_0cb5de9f-32ca-41b6-b112-b7fc92d23ca6

असम: वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री शर्मा और सद्गुरु के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

असम की मुख्यमंत्री हिम्मत बिस्वा शर्मा और सद्गुरु समेत अन्य के खिलाफ पुलिस में शिकायत …