असम में बोले पीएम मोदी, कोई भी देश अपना इतिहास भूलकर विकसित नहीं हुआ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुवाहाटी में रु. 11,000 करोड़ की परियोजना का लोकार्पण एवं शिलान्यास। जिसमें सड़क और रेलवे से जुड़ी परियोजनाएं शामिल हैं। परियोजनाओं से नॉर्थ-ईस्ट कनेक्टिविटी बढ़ेगी। पीएम मोदी ने कहा कि आज एक बार फिर माता कामाख्या के आशीर्वाद से मुझे असम के विकास से जुड़ी परियोजनाएं आपके हाथों में सौंपने का सौभाग्य मिला है। कुछ समय पहले यहां 11 हजार करोड़ रुपये की परियोजना का शिलान्यास और उद्घाटन किया गया था. उन्होंने कहा कि ये सभी परियोजनाएं असम और पूर्वोत्तर के साथ-साथ अन्य दक्षिण एशियाई देशों के साथ क्षेत्र की कनेक्टिविटी को और मजबूत करेंगी।

जनता का प्यार मेरे लिए विश्वास है: पीएम मोदी

लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं कल शाम को यहां आया था, गुवाहाटी के लोग हमारे स्वागत और सम्मान के लिए सड़क पर निकले थे, सभी हमें आशीर्वाद दे रहे थे। मैं आप सभी को हृदय से धन्यवाद देता हूँ। उन्होंने कहा कि मैंने टीवी पर देखा कि आप लोग लाखों दिये जला रहे हैं. आपका प्यार और स्नेह मेरे लिए बहुत बड़ा खजाना है।

जब कामाख्या मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा तो भक्तों को बहुत खुशी होगी: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि अयोध्या में भव्य कार्यक्रम के बाद अब मैं यहां कामाख्या माता के दर पर आया हूं. आज मुझे यहां मां कामाख्या दिव्य लोक परियोजना का शिलान्यास करने का सौभाग्य मिला। उन्होंने कहा कि इस स्वर्ग लोक का दर्शन मुझे विस्तार से बताया गया है। जब यह पूरा हो जाएगा तो देश और दुनिया भर में देवी मां के भक्तों को अपार आनंद से भर देगा।

हमारी मंदिर संस्कृति के अमिट प्रतीक

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे तीर्थ, हमारे मंदिर, हमारे आस्था के स्थान, ये सिर्फ घूमने की जगह नहीं हैं। ये हमारी सभ्यता की हजारों वर्षों की यात्रा के अमिट संकेत हैं। ये इस बात का प्रमाण है कि भारत किस तरह हर संकट का डटकर मुकाबला करता रहा। उन्होंने कहा कि कोई भी देश अपने अतीत को मिटाकर और भूलकर कभी विकास नहीं कर सकता। मुझे संतोष है कि पिछले 10 वर्षों में भारत की स्थिति बदल गई है। भाजपा की डबल इंजन सरकार ने ‘विकास और विरासत’ को अपनी नीति का हिस्सा बनाया है।