PM Kisan: 25 दिसंबर को खाते में आएंगे 2 हजार रुपये, ऐसे चेक करें अकाउंट बैलेंस

पीएम किसान स्कीम (PM Kisan Scheme) की 7वीं किस्त का इंतजार कर रहे करोड़ों किसानों के लिए अच्छी खबर है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) की सातवीं किस्त 25 दिसंबर, 2020 को किसानों के खातों में ट्रांसफर की जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को कहा था कि 25 दिसंबर को पीएम किसान योजना की सातवीं किस्त के पैसे खाते में जमा किए जाएंगे. इस योजना के तहत, लाभार्थियों के बैंक खातों में सालाना 2000 रुपये की तीन किस्तों में सीधे 6,000 रुपये की राशि जारी की जाती है.

सालाना मिलते हैं 6 हजार रुपये

इस योजना में केंद्र सरकार तीन किस्तो में 6 हजार रुपये ट्रांसफर करती है पहली किस्त 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच आती है, जबकि दूसरी किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई और तीसरी किस्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच में किसानों के खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है.

 

ऐसे चेक करें बैलेंस

अगर आप भी PM-KISAN योजना के लाभार्थियों में से एक हैं, तो आप इन आसान स्टेप्स के माध्यम से पैसे ट्रांसफर होने पर अपना बैलेंस चेक कर सकते हैं-

>> Step 1: सबसे पहले pmkisan.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
>> Step 2: होमपेज पर ‘Kisan Corner’ पर जाएं.
>> Step 3: स्टेटस पर क्लिक करें.
>> Step 4: नया पेज खुल जाएगा. अकाउंट नंबर, आधार नंबर और मोबाइल नंबर डालें.
>> Step 5: ‘Get Report’ पर क्लिक करें. यहां आपको सारी जानकारी मिल जाएगी, जो आपके लिए जानना जरुरी है.

 

अगर आपको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की राशि आपके खाते में नहीं मिली है और फंड ट्रांसफर ऑर्डर (FTO) दिखाता है तो इसका मतलब है कि आपको जल्द ही फंड मिल जाएगा. FTO का मतलब है कि सरकार ने आपके द्वारा दी गई जानकारी को सत्यापित कर लिया है और जल्द ही राशि आपके खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी.

हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल

अगर आपको फंड के बारे में संदेह हैं तो आप प्रधानमंत्री किसान निधि योजना की हेल्पलाइन नंबर: 011-24300606 पर कॉल कर सकते हैं. आप इस नंबर पर राशि के संबंध में कोई भी विवरण मांग सकते हैं या अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

Check Also

सरकार लॉकडाउन की स्थिति में व्‍यापारियों को दे मुआवजा: कैट

नई दिल्‍ली : देशभर में कोविड-19 की वजह से फैलने वाली महामारी एक बार फिर …